जबलपुर। केंद्रीय प्रशासनिक अधिकरण (कैट) ने अंतरिम आदेश के जरिये रेलवे को निर्देश दिया है कि मेनलाइन ड्रायवर कोर्स (एमएलडी) के लिये वरीयता के अनुरूप ही भेजा जाये। इस सिलसिले में वरिष्ठता का उल्लंघन अनुचित है। कैट के न्यायिक सदस्य रमेश सिंह ठाकुर व प्रशासनिक सदस्य नैनी जयशीलन की युगलपीठ ने इस सिलसिले में पश्चिम मध्य रेलवे जोन के महाप्रबंधक सहित अन्य को नोटिस जारी कर जवाब-तलब कर लिया है।

वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिये मामले की सुनवाई हुई। इस दौरान याचिकाकर्ता सतना निवासी आशीष कुमार बरनवाल सहित 54 सीनियर असिस्टेंट लोको पायलट्स की ओर से अधिवक्ता अजय प्रताप सिंह ने पक्ष रखा। उन्होंने दलील दी कि याचिकाकर्ता जिस पद पर कार्यरत हैं, उससे पदोन्नत होकर वे मालगाडी चालक बनाये जाएंगे। इसके लिये रेलवे में वर्षों से मेनलाइन ड्रायवर कोर्स (एमएलडी) के लिये वरीयता क्रम में भेजे जाने का प्रावधान रहा है। ऐसा इसलिये ताकि रेल चालन निर्बाध हो सके। मेनलाइन ड्रायवर कोर्स (एमएलडी) की ट्रेनिंग जोनल रेलवे ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट, भुसावल में होती है। देखने में आया कि पमरे ने मनमाने तरीके से आरक्षण का लाभ देते हुये याचिकाकर्ताओं से अपेक्षाकृत कनिष्ठ सीनियर असिस्टेंट लोको पायलट्स को मेनलाइन ड्रायवर कोर्स के लिये भेज दिया। इस वजह से याचिकाकर्ताओं की वरिष्ठता मारी गई। इसी रवैये के खिलाफ वे कैट की शरण में आये हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020