सिहोरा (नईदुनिया न्यूज)। सिहोरा अस्पताल में जहर खुरानी के मरीज को छुट्टी देने के बाद घर पहुंचते ही मौत होने का मामला सामने आया है। जिसको लेकर स्वजन ने सिविल अस्पताल के डॉक्टर पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है।

गुरुवार सुबह 9 बजे मझगवां निवासी राजेंद्र बर्मन के छोटे भाई नरेश बर्मन (32) ने पेट दर्द के चलते कीटनाशक पीकर आत्महत्या का प्रयास किया। जिसे लेकर स्वजन इलाज के लिए सिविल अस्पताल लाए। यहां पर डॉ. हेमा बिसेन ने जांच की। ओपीडी से लौटने के बाद दोपहर 1 बजे जब डॉक्टर इमरजेंसी वार्ड में आईं, तब तक पीड़ित के स्वजन मरीज को घर ले जा चुके थे।

वहीं मृतक नरेश बर्मन के भाई राजेंद्र बर्मन ने बताया कि अस्पताल में डॉक्टर ने मरीज के स्वस्थ होने को कहकर घर ले जाने को कह दिया था। घर ले जाने पर मरीज की हालत बिगड़ गई। मरीज को फिर अस्पताल लाया गया। यहां डॉक्टर ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक के भाई राजेंद्र ने कहा उसके भाई की मौत के कारणों की जांच हो और लापरवाही करने वाले डॉक्टर पर कार्यवाही की जाए।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस