जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

भोंगाद्वार कजरवारा से कटियाघाट तक जाने वाली महज डेढ़ किलोमीटर की जर्जर सड़क किसानों के लिए मुसीबत बनी हुई है। खाद, बीज से लेकर छोटी सी छोटी सामग्री लाने ले जाने में किसानों को बड़ी परेशानी झेलनी पड़ रही है। सालों से बदहाल पड़ी सड़क के कारण सबसे ज्यादा दिक्कत तब होती है जब अन्नदाता उपज को लेकर मंडियां जाते हैं। नगर निगम, जिला प्रशासन से कई बार किसानों ने सड़क बनाने की गुहार लगाई लेकिन सुनवाई आज तक नहीं हुई। इससे नाराज किसानों ने रविवार को जर्जर सड़क पर ही धरना दे दिया।

किसान सेवा सेना के आह्वान पर किसानों ने धरना प्रदर्शन कर कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा जिसमें जर्जर सड़क को जल्द दुरुस्त कराने सहित अन्य मांगों को निराकरण करने की मांग की गई। किसान सेवा सेना के संचालन समिति के सदस्य जितेंद्र कुमार, सीमित पटेल, एके पटेल, मुकेश सेन ने बताया कि भोंगाद्वार कजरवारा से कटियाघाट पंप हाउस के बीच लगभग डेढ़ किलोमीटर की सड़क बहुत ही जर्जर स्थिति में है। यहां हमेशा दुर्घटनाओं का अंदेशा बना रहता है। खेती संबंधी कार्य जैसे खाद, बीज अदि की ढुलाई, फसल बिक्री, ट्रैक्टर लाने-ले जाने में परेशानी होती है।

अन्य मांगें भी शामिल

- तिलहरी सोसायटी की धान खरीदी निकटतम वेयर हाउस में की जाए।

- ट्रांसफार्मरों का लोड बढ़ाया जाए ताकि सिंचाई में परेशानी न हो।

- धोबीघाट और बिलहरी में कैंट नाका में किसानों से टैक्स लेना बंद किया जाए।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020