जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

रांझी मोहनियां और डुमना रोड स्थित इंद्रा बस्ती से गुरुवार को एक-एक मगर को वन विभाग के अमले ने रेस्क्यू करके पकड़ा। यह दोनों जलचरों ने ईंट-भट्टा लगाने खोदे गए गहरे गड्ढों में बसेरा बना रखा था। वन विभाग के अमले उन्हें पकड़कर प्राकृतिक आवास में छोड़ दिया है।

वन विभाग ने बताया है कि सुबह 8 बजे सूचना मिली कि रांझी मोहनियां में एक गड्ढे के बाहर एक मगर बैठा है। यह जलजीव वहां से गुजरते लोगों पर कभी भी हमला कर सकता है। यह खबर पाकर वन विभाग का रेस्क्यू अमला मौके पर पहुंचा और मोहनियां निवासी वीरेंद्र पटेल के खेत में करीब 5 फीट लंबा मगर बैठे देखा। वनकर्मियों ने जैसे ही इस मगर को पकड़ने रेस्क्यू शुरू किया वह गड्ढे में समा गया। वनकर्मियों ने इस मगर को जाल की मदद से पकड़ लिया। दोपहर 12.15 बजे इस मगर को परियट नदी में छोड़ दिया गया।

वन अमले को दोपहर में सूचना मिली कि डुमना रोड के ग्राम महगवां के पास इंद्रा बस्ती में मगर निकला है। दोपहर 1.30 बजे वन विभाग का रेस्क्यू अमला मौके पर पहुंचा। इस बस्ती में वन अमले ने एक गड्ढे में भरे पानी के बीच मौजूद मगर को पकड़ने जाल डाला और आधा घंटे तक प्रयास करके उसे पकड़ लिया। इस मगर की लंबाई करीब दो फीट है। वन अमले ने वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर इस मगर को डुमना नेचर पार्क के पास खंदारी जलाशय के प्राकृतिक आवास में छोड़ दिया।

ईंट-भट्टे लगाने खोदी जमीन

रांझी, मोहनियां, महगवां में ईंट-भट्टे लगाने जमीन खोदकर मिट्टी निकाल ली गई। इससे यहां जगह-जगह गहरे गड्ढे हो गए हैं। इन गड्ढों में पानी भरने से बारिश के दौरान नदी व जलाशय से भागे जलचरों का डेरा है।

गहरे गड्ढों में नहीं उतरें

वन विभाग ने आम नागरिकों से परियट नदी और खंदारी जलाशय के आसपास गहरे गड्ढों में पानी भरा होने की दशा में नहीं उतरने की अपील की है। कारण इन गड्ढों में रहने वाले जलचर हिंसात्मक होकर लोगों पर हमला भी कर सकते हैं।

-----------

ईंट-भट्टा लगाने खोदे गए गहरे गड्ढों में पानी भरा है, जिनमें बारिश के दौरान नदी-नालों से होकर जलचर पहुंच गए हैं। वन विभाग इन जलचरों को रेस्क्यू करके प्राकृतिक आवास में छोड़ रहा है। नागरिकों को सतर्क रहना चाहिए।

- पीएल बरकड़े, रेंजर जबलपुर, वन विभाग

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस