जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

देश के पहले मजदूर संगठन ऑल इंडिया ट्र्‌ेड यूनियन कांग्रेस (एटक) का गठन 31 अक्टूबर सन 1920 को मुंबई में किया गया, जिसके पहले अध्यक्ष लाला लाजपत राय रहे। उनकी अगुवाई में संगठन ने मजदूर हितों के लिए लगातार संघर्ष किए और साथियों को अधिकार दिलाया। हमें गर्व है कि आज एटक की शताब्दी वर्षगांठ मनाई जा रही है। राइट टाउन स्थित हरिशंकर परसाईं भवन में यह विचार प्रमुख वक्ताओं ने रखे।

कार्यक्रम अध्यक्ष एसके मिश्रा ने वर्तमान में मजदूरों की स्थिति और भविष्य के हालातों की समीक्षा की। कहा कि देश के विभिन्न मजदूर एकजुट होकर संगठन से जुड़े रहेंगे, तो उन्हें सरलता से अपना अधिकार मिलेगा। यदि मौजूदा स्थिति में मजदूरों ने सरकारी तंत्र के सामने घुटने टेक दिए तो उनका भविष्य संकट में होगा। भविष्य का संकट टालने जरूरी है कि हम अपने वरिष्ठ नेताओं के विचारों व कार्यों को आदर्श बनाएं। कार्यक्रम के प्रारंभ में समागम रंग मंडल ने क्रांतिकारी जनगीत की प्रस्तुति दी। शताब्दी वर्ष कार्यक्रम का संचालन पीके बोस ने किया। इस अवसर पर केंद्रीय सुरक्षा संस्थान ओएफके, जीसीएफ, वीएफजे, जीआइएफ और बीएसएनएल, डाक, आयकर सहित अन्य संस्थानों के एटक नेता रामप्रवेश, एसबी रानाडे, राजेंद्र गुप्ता, श्रीराम मीणा, आरएस तिवारी, डीके सिंह सहित कई कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

आदर्शों पर अडिग रहे

श्रमिक नेता अर्नब दास गुप्ता ने कहा कि एटक का इतिहास और मजदूरों के लिए किया गया संघर्ष सराहनीय है। संगठन के प्रथम अध्यक्ष के साथ ही अन्य वरिष्ठ नेताओं ने अपने आदर्शों पर अडिग रहकर मजदूरों के हक की लड़ाई को पूरा किया है। ऐसे श्रमिक नेताओं पर हमें आज भी गर्व है।

संकट में सुरक्षा संस्थान

प्रमुख वक्ताओं ने कहा कि देश के सभी 41 सुरक्षा संस्थानों के निगमीकरण की तैयारियां की जा रहीं हैं। इससे सुरक्षा संस्थानों का आस्तित्व और मजदूरों का भविष्य संकट में है। सरकार और मजदूर संगठनों के बीच वार्ता का दौर जारी होने से मजदूर अभी निर्णय का इंतजार कर रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस