जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। बल्देवबाग चौराहे में 'लेफ्ट टर्न नहीं होने से दिन में कई बार जाम की स्थिति बन रही है। इस चौराहे पर ट्रैफिक सिग्नल की रेड लाइट होते ही ठहरने वाले वाहनों में दमोहनाका से बड़ा फुहारा, उखरी तिराहा से दमोहनाका की जा रहे वाहन भी फंस जाते हैं। इन वाहनों के सवार देर तक ग्रीन लाइट होने का इंतजार भी करते हैं। इस चौराहे पर लेफ्ट टर्न नहीं होने से कई बार मरीजों को लेकर आईं एंबुलेंस भी फंस चुकी है।

बल्देवबाग निवासी आनंद मिश्रा, रमेश रैकवार, गोपाल यादव बताते हैं कि शहर के इस चौराहे पर सुबह 7 से रात 9 बजे तक यातायात का दबाव ज्यादा रहता है। यहां से गुजरने वाले छोटे-बड़े वाहनों में सवार शासकीय-निजी कर्मचारी, स्कूली बच्चे और कामगार जल्दबाजी से गंतव्य तक पहुंचने के प्रयास भी करते हैं। इससे चौराहे पर जब-तब दुर्घटनाएं भी होती हैं। कारण यहां दमोहनाका-बड़े फुहारा और उखरी-दमोहनाका का व्यवस्थित लेफ्ट टर्न नहीं बनना है।

चौराहे पर इंजीनियरिंग फेल: नागरिक बताते हैं कि बल्देवबाग चौराहे में चार सड़कें जुड़तीं हैं, लेकिन यहां पर 'प्लस (जोड़) का निशान नहीं बनता। इस चौराहे पर इंजीनियरिंग फेल होने से नगर निगम, यातायात पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी भी व्यवस्था नहीं बना पाते।

भारी वाहन बने समस्या: बल्देवबाग चौराहे से ट्रांसपोर्ट व्यवसाय भी संचालित होता है। शहर में नो-एंट्री खुलते ही यहां ट्रांसपोर्टरों का माल लेकर सैकड़ों ट्रकों आते-जाते है। रोजाना रात को 9-10 बजे से सुबह 6 बजे इस क्षेत्र की सड़क पर खड़े ट्रकों से माल उतारने व लादने का काम होता है। इन ट्रकों से नागरिक परेशान रहते हैं और कई बार दुर्घटनाएं भी हो चुकीं हैं। इसके बाद भी जिला प्रशासन ने यहां के ट्रांसपोर्टरों को दूसरी जगह नहीं भेजा।

वर्जन...

बल्देवबाग चौराहे पर तैनात पुलिसकर्मी यातायात व्यवस्था बनाते हैं। रेड सिग्नल में जंप करने वाले वाहनों का चालान भी करते हैं। यहां दो लेफ्ट टर्न बनाने जल्द ही नगर निगम से चर्चा की जाएगी।

- संजय अग्रवाल, एएसपी यातायात

Posted By: Ravindra Suhane

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस