जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जेईई मेन्स के फाइनल परीक्षा परिणामों का विद्यार्थी 10 सितंबर से इंतजार कर रहे थे। ऐसा कहा गया था कि 14 को परिणाम घोषित हो जाएंगे लेकिन दिन से रात हो गई पर परिणाम नहीं आए तो विद्यार्थी निराश हो गए थे। लेकिन आधी रात के बाद जब विद्यार्थियों को पता चला कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा जेईई मेन्स के चारों चरणों के परिणामों को मिलाकर फाइनल परिणाम घोषित कर दिए गए हैं तो उनकी खुशी का ठिकाना ही नहीं था। कुछ विद्यार्थी तो रात में ही सक्रिय हो गए अपना परिणाम देखने के लिए तो कई ने अपने दोस्तों को संदेश भेजकर सूचना दी कि परिणाम आ गए हैं। सुबह से ही जेईई देने वाले विद्यार्थियों के बीच संदेशों का अदान-प्रदान चल रहा था कि किसका क्या पर्सेंटाइल आया और ओवर आल परिणाम कैसा रहा। इस बार जेईई मेन्स के परिणाम विद्यार्थियों के लिए किसी ऐसे लक्ष्य की तरह है जो लग ही नहीं रहा था कि पूरा हो भी पाएगा या नहीं। कोरोना के कारण विद्यार्थियों को काफी इंतजार करना पड़ा परीक्षा के लिए। इंतजार इतना हो गया कि पूरा सत्र ही करीब छह माह विलंब से चल रहा है। इस बीच विद्यार्थियों को कई मानसिक परेशानियों का भी सामना करना। रेडियंस के डायरेक्टर दिनेश मिश्रा ने बताया कि कोरोना ने जेईई मेन्स को बहुत लंबा और कठिन बना दिया था। बच्चे पढ-पढ़ कर थक गए थे। हम लोगों ने लगातार उन्हें मोटीवेट किया कि वे हिम्मत न हारें। परीक्षा जरूर होगी। आनलाइन कक्षाएं चलती थीं जिनमें विद्यार्थी लगातार पढ़ते थे। इसी तरह मोमेन्टम के डायरेक्टर डा. कपिल जैन ने भी बताया कि इस बार परीक्षा विद्यार्थियों के सब्र की रही। बच्चों ने मेहनत की और ईमानदारी से अपनी पढ़ाई की। अब सभी जेईई एडवांस की तैयारी कर रहे हैं। जो तीन अक्टूबर को होने वाली है। जेईई मेन्स के चौथे चरण की परीक्षाएं 26 अगस्त से एक सितंबर तक आयोजित की गई थीं।

बेहतर आया परिणाम : जहां तक शहर के विद्यार्थियों के परिणाम की बात है तो विशेषज्ञों के अनुसार परिणाम बेहतर आया है। अक्षत सिंह तिवारी 99.94 पर्सेंटाइल के साथ आल इंडिया रैंकिंग में 778 वें स्थान पर हैं। तो वहीं रोमिका रायसिंघानी 99.88 पर्सेंटाइल के साथ आल इंडिया रैंकिंग में 1468 वें स्थान पर। साथ ही सजल जैन के 99.77 पर्सेंटाइल व श्रेया सराफ के 99.77 पर्सेंटाइल रहे। इसके अलावा धवल दीक्षित- 99.56, किंशुक खरे- 99.52, जैद अहमद खान- 99.51, ईशान सिंह- 99.42, पर्व जैन- 99.41, एश्वर्य मराठा- 99.37, दीपांशु जैन- 99.27, वेदांत अग्रवाल- 99.13, अजय अग्रवाल- 99.11, आदित्य सराफ- 00.10, अर्पिता कुमारी 99.03 व आदित्य नामदेव- 99.02 पर्सेंटाइल के साथ आगे रहे। 99.94 पर्सेंटाइल के साथ सबसे आगे रहने वाले अक्षत सिंह तिवारी ने बताया कि उन्होंने पूरा ध्यान अपनी पढ़ाई पर फोकस किया। किसी भी नकारात्मक बात की ओर ध्यान जाने ही नहीं दिया। इस कोशिश में उनके माता-पिता संगीता व ज्ञानेंद्र सिंह तिवारी ने उनका पूरा सहयोग किया। अब वे एडवांस की तैयारी में लगे हुए हैं।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local