जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि । गुजरात के पर्यटन क्षेत्र के रूप में प्रसिद्ध हुए स्टेच्यू ऑफ यूनिटी (केवड़िया) से रीवा के बीच शनिवार 16 जनवरी से शुरू हुई नई ट्रेन रविवार को दोपहर करीब 2 बजे जबलपुर स्टेशन पहुंची। फूलों से सजी ट्रेन का स्टेशन पर जोरदार स्वागत किया गया। करीब 10 मिनट तक रुकने के बाद ट्रेन रीवा के लिए रवाना हो गई।

गुजरात के बड़ोदरा और केवड़िया स्टेशन के बीच 82 किलोमीटर की नईलाइन बिछाने का काम पूरा होने के बाद शनिवार से ट्रेनों का संचालन शुरू हो गया है। हालांकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार की सुबह 8 ट्रेनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया लेकिन इससे पूर्व ही केवड़िया और रीवा के बीच चलने वाली साप्ताहिक ट्रेन नंबर 09195 केवड़िया-रीवा शनिवार की शाम करीब 7 बजे ही वहां से रवाना हो चुकी थी। यह ट्रेन रविवार को करीब दोपहर 2 बजे जबलपुर स्टेशन पहुंची।

भाजपा कार्यकर्ताओं ने किया स्वागत: केवड़िया से शुरू हुई ट्रेन के जबलपुर पहुंचने के निर्धारित समय से पहले ही भाजपा कार्यकर्ता स्टेशन पहुंच गए थे। जैसे ही फूलों से सजी ट्रेन स्टेशन पर पहुंची कार्यकर्ताओं ने उसका जोरदार स्वागत किया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने यात्रियों पर पुष्पवर्षा करते हुए गार्ड, लोको पायलट, सहायक लोको पायलट, का शाल श्रीफल से सम्मान किया। स्वागत सत्कार के दौरान भाजपा के नगर महामंत्री संदीप जैन, निवर्तमान एमआइसी सदस्य कमलेश अग्रवाल, श्रीराम शुक्ला, मनप्रीत सिंह आनंद काके, निवर्तमान पार्षद संजय तिवारी, श्रीकांत साहू, रविन्द्र पचौरी, रजनीश यादव, शशिकांत सोनी, कौशल सूरी, शिवशंकर पाठक, राहुल साहू सहित अन्य कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

एक और ट्रेन जबलपुर से होकर चलेगी: केवड़िया से शुरू होने वाली एक और ट्रेन जबलपुर से गुजरेगी। यह भी महामाना एक्सप्रेस है जो केवड़िया से वाराणसी के बीच चलनी है। विदित हो कि केवड़िया से शुरू हो रही ट्रेनों को प्रधानमंत्री ने स्वयं हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था, इसलिए जबलपुर मंडल ने भी इसे गंभीरता लिया। मंडल रेल प्रबंधक संजय विश्वास इसके लिए एक दिन पूर्व ही स्पेशल ट्रेन से रीवा पहुंचकर वहां की व्यवस्थाओं का जायजा ले चुके थे।

रीवा के लिए मिली तीसरी ट्रेन: पश्चिम मध्य जोन के अंतर्गत आने वाले रीवा स्टेशन के लिए जबलपुर से अभी तक एक इंटरसिटी और दूसरी पैसेंजर ट्रेन चलती है। लेकिन अब जबलपुर से रीवा की ओर जाने वाले यात्रियों को इसके अलावा एक ट्रेन की सौगात और मिली है। हालांकि यह ट्रेन साप्ताहिक है।

Posted By: Sunil Dahiya

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags