जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। चाकूबाजी की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। बात-बात में चाकू से हमला हो रहे हैं। खासतौर पर युवा इसे बतौर अपराध के लिए हथियार के तौर पर इस्तेमाल कर रहे हैं। चालू माह में ही चाकूबाजी की कई घटनाएं हुईं। इसमें कुछ मामलों में तो हमला इस कदर गंभीर हुआ कि पीड़ित की मौत तक हो गई है। विशेषज्ञ मानते हैं कि चाकू की सरलता से उपलब्धता ही इसके चलन को बढ़ा रही है। आनलाइन भी शरारती तत्व चाकू के आर्डर बुला रहे हैं।

आनलाइन नहीं निगरानी-

नवंबर माह में चाकूबाजी की कई घटनाओं में चायनीज चाकू का उपयोग किया गया था। बताया जाता है कि सामान्य रूप से कई दुकानों में इन दिनों डिजाइनर चाकू मिल रहे हैं। जिस वजह लोगों की पहुंच में हो गए है। इस संबंध में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रदीप शेंडे ने बताया कि आसानी से जो वस्तु मिल जाए उससे अपराधी अधिक उपयोग में लेते हैं। इसकी बड़ी वजह अशिक्षा भी है। लोगों को जागरूकता लाने की आवश्यकता है। इसके अलावा पुलिस के स्तर पर भी कार्रवाई की जा रही है।

कोर्ट के बार चाकू से हमला-

21 नवंबर को कोर्ट के बाहर चाकूबाजी हुई। मस्ताना चौक निवासी सत्यम कुशवाहा पर कोर्ट परिसर से बाहर आया, तो गेट क्रमांक तीन के पास आरोपित निहाल नायडू ने रोका। निहाल के साथ उसका साथी जेल लाइन निवासी स्वराज सिंह सेंगर, भिनव यादव, अमन राजपूत और अनुज सिंह ने भी रोका। स्वराज ने जहां उस पर चाकू से ताबड़तोड़ वार कर दिए। वह गंभीर रूप से घायल हो गया।

20 नवंबर-रांझी थाने में 16 वर्षीय किशोर आजाद नगर रांझी निवासी बीती रात अपने दोस्त कबीर और कृष्णा के साथ घर पैदल जा रहा था। इसी दौरान विवेक विनोदिया ने उस पर चाकू से हमला कर दिया।

20 नवंबर- अधारताल थाना अंतर्गत संजय नगर में चाकूबाजी कर फरार हुए आरोपित को पकड़ा।

19 नवंबर की रात गोरखपुर थाना क्षेत्र में 21 साल के इंटीरियर डिजाइन की मोपेड को बाइक सवार बदमाशों ने कट मारा। विरोध किया तो साथियों को बुलाकर चाकू से हमला किया।

16 नवंबर- बेलबाग में गुजराती मोहल्ला अधारताल निवासी यश पटेल के साथ संदीप सोनकर, बाबू सोनकर और हिमांशु सोनकर ने अभद्रता कर दी। उसने विरोध किया तो हिमांशु ने उस पर चाकू से वार कर दिया।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close