जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। बादल, बारिश ने सूरज के तीखे होते तेवर फिर ठंडे कर दिए हैं। 25 मई से शुरू हुए नौतपा पर पश्चिमी विछोभ ने पानी फेर दिया है। गुरुवार को भी सुबह से ही मौसम का मिजाज नरम है। बादलों की आवाजाही के बीच दोपहर या शाम तक जबलपुर सहित आसपास के जिलों में बूंदाबांदी हो सकती है। बुधवार को भी नौतपा के पहले दिन पश्चिमी विक्षोभ के असर से छाए बादलों ने नौतपा की तपन गायब कर दी। सुबह निकली धूप के बाद दोपहर करीब तीन बजे मौसम ने अचानक करवट बदली और आसमान बादलों से घिर गया। थोड़ी देर बाद करीब 15 से 20 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने लगीं और फिर जोरदार बूूंदाबांदी होने लगी। रूक-रूक कर शाम करीब साढ़े पांच बजे तक बूंदाबांदी का क्रम जारी रहा। मौसम विभाग के मुताबिक अब तक करीब चार मिमी बारिश दर्ज हो चुकी है।

गर्मी से मिली राहत-

जबलपुर सहित आसपास हो रही बूंदाबादी के चलते वातावरण में नमी आ गई है। मई माह में तेज पड़ रही गर्मी से अब जाकर लोगों को राहत मिली है। 42 डिग्री तक पहुंच चुका तापमान पिछले चार दिनों में करीब पांच डिग्री तक गिरकर 36.7 डिग्री पर आ गया है। वहीं न्यूनतम तापमान में भी करीब 10 डिग्री की गिरावट के साथ 32 से सीधे 24.2 डिग्री पर आ गया है। तापमान में आई गिरावट के चलते लोगाें को गर्मी से निजात मिल गई है। मौसम विभाग की माने तो गुरुवार को भी जबलपुर सहित संभाग के जिलों में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ सकती है। तापमान में भी आंशिक गिरावट आ सकती है। गत वर्ष आज के दिन अधिकतम तापमान 37.6 और न्यूनतम 22.7 डिग्री सेल्सियस था।

राजस्थान के ऊपर बना है कब दबाव का क्षेत्र-

मौसम विभाग की माने तो पश्चिम विक्षोभ के असर से राजस्थान के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। जबलपुर सहित संभाग के जिलों में बूंदाबांदी हो रही है। इसका असर 27 मई तक रहेगा। इसके बाद तापमान में आंशिक बढ़ोतरी हो सकती है, लेकिन इस बार समय पर मानसून के केरल पहुंचने की संभावना के चलते जल्द ही प्री-मानसून भी सक्रिय हो सकता है।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close