LockDown in Madhya Pradesh :जबलपुर, कटनी, नरसिंहपुर, भोपाल (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मध्‍य प्रदेश में श्रमिक ट्र्रेन के यात्रियों ने कुछ स्‍थानों पर स्‍टेशन पर लूटपाट और हंगामा किया।नरसिंहपुर के साथ कटनी, बनखेड़ी और खंडवा स्‍टेशन पर हंगामा हुआ। नरसिंहपुर रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार दोपहर करीब पौने दो बजे ट्रेन क्रमांक 01932 में सवार महिला रिंकू देवी पति राजू शाह मुजफ्फरनगर ने चलती ट्रेन में बच्ची को जन्म दिया।

महिला को मेडिकल राहत देने के लिए नरसिंहपुर रेलवे स्टेशन की मुख्य लाइन पर ट्रेन रोकी गई। इस दौरान स्टेशन प्रबंधन संजय सोनकर ने यात्रियों के प्लेटफॉर्म से बाहर निकलने की आशंका को देखते हुए एसडीएम एमके बमनहा से सुरक्षा मांगी। थोड़ी देर बाद एसडीएम पुलिसबल नहीं बल्कि समाजसेवियों को लेकर पहुंच गए।

यहां वे यात्रियों को प्लेटफॉर्म पर बुलाकर बिस्किट-चिप्स बांटने लगे। इन्हें पाने यात्री ट्रेनों से कूदकर प्लेटफॉर्म पर पहुंच गए। पहले तो प्लेटफॉर्म पर रेल पुलिस ने यात्रियों को लाइन लगवाकर चिप्स-बिस्किट बांटने की कोशिश की। लेकिन इसी बीच सामान खत्म हो गया।

समाजसेवियों ने प्लेटफॉर्म पर ही निजी वेंडरों को बुलाकर सामग्री बिकवाना शुरू कर दिया। सामानों को खरीदने की होड़ के बीच थोड़ी ही देर में यात्रियों ने लूट मचा दी, जिससे भगदड़ मच गई। यात्रियों ने मास्टर समेत एसडीएम को भीड़ ने घेर लिया।

अधिकारियों के साथ कोई हादसा न हो जाए, ये देखकर एक्शन मोड में आई आरपीएफ व जीआरपी के जवानों ने हल्का बल प्रयोग किया। आनन-फानन ट्रेन को रवानगी दी गई, जिससे यात्री दौड़कर ट्रेनों में सवार हो गए। कलेक्टर दीपक सक्सेना का कहना है कि महिला की डिलेवरी पर चिकित्सकीय सहायता के लिए अधिकारी पहुंचे थे। हालांकि उन्होंने माना कि बिना तैयारी के इस तरह यात्रियों को भोजन पैकेट बांटना सही नहीं था।

ब्यौहारी रेलवे स्टेशन पर भी लूटपाट

शहडोल (नप्र)। ब्यौहारी रेलवे स्टेशन पर श्रमिक स्पेशल ट्रेन के यात्रियों ने लूटपाट की। रेलवे ने प्रवासी मजदूरों के लिए नाश्ते, फल और पानी की व्यवस्था की थी। नाश्ता उपलब्ध कराने के लिए काउंटर भी बनाए थे। शुक्रवार दोपहर 1.50 बजे महाराष्ट्र के ठाणे से बिहार के दरभंगा जा रही श्रमिक स्पेशल ट्रेन ब्यौहारी स्टेशन पर रुकी। ट्रेन के रुकते ही मजदूर काउंटरों पर उमड़ पड़े व लूटपाट हो गई। जिसके हाथ में जो आया, वह उसे लेकर भागने लगा। 10 मिनट तक अफरातफरी का माहौल रहा। हालांकि लगभग सभी मजदूरों को नाश्ते, फल और पानी की बोतलें उपलब्ध हो गईं। 22 कोच में लगभग 1500 यात्री थे।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस