जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर में अच्छी बारिश की आस लगाए बैठे लोगों को दो से तीन दिन का और इंतजार करना पड़ सकता है। फिलहाल जबलपुर में बूंदाबांदी और मध्यम वर्षा ही होने की संभावना बनी हुई है। मंगलवार को भी दिन भर आसमान में बादल जरूर बने रहे लेकिन बूंदाबांदी कर चले गए। बीते वर्ष जहां आज के दिन तक 336 मिलीमीटर यानी 13 इंच से ज्यादा बारिश हो चुकी थी लेकिन इस बार 200.5 मिलीमीटर यानी आठ इंच ही बारिश हुई है। मंगलवार को तापमान में भी गिरावट देखी गई दिन का पारा चार डिग्री तक नीचे आ गया, जिसके कारण लोगों को उमस का सामना भी नहीं करना पड़ा। मौसम विभाग ने आने वाले 24 घंटे में जबलपुर संभाग के जिलों में गरज-चमक के साथ भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।

दिन घटने हुए शुरू

अब से सूर्यास्त का भी समय घटने लगा है। सूर्यास्त का सर्वाधिक समय शाम 7.00 तक गया, जिसके बाद से अब वापस सूर्यास्त एक मिनट पीछे आ गया है। धीरे-धीरे अब जल्दी सूरज ढलने लगेगा। जबकि सूर्योदय का भी समय अब बढ़ गया है। अब देर से सूर्योदय होना शुरू हो गया है।

सीजन में सबसे धीमी चली हवा

हवा की रफ्तार पर ही बारिश की संभावना टिकी होती है। जिस दिशा से हवा चलेगी उसी दिशा से बादलों के आवागमन पर मौसम विभाग नजरें टिकाता है। हवा की रफ्तार धीमी होने से बादलों के बने रहने की संभावना भी बढ़ जाती है। मंगलवार को इस सीजन में हवा की रफ्तार सबसे कम मापी गई। मंगलवार को पश्चिमी हवा का असर शहर में रहा जिसकी औसत रफ्तार मात्र 1 किलोमीटर प्रतिघंटे की रही।

ऐसा रहा मंगलवार का तापमान

मौसम विभाग के अनुसार मंगलवार को शहर का अधिकतम तापमान 30.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य से एक डिग्री कम रहा। जबकि न्यूनतम तापमान 26.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो कि सामान्य से तीन डिग्री अधिक रहा। सुबह की आर्द्रता 78 प्रतिशत तो शाम की आर्द्रता 88 प्रतिशत मापी गई। बीते वर्ष इस दिन का अधिकतम तापमान 34.4 तो न्यूनतम 26.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Raksha Bandhan 2020
Raksha Bandhan 2020