जबलपुर (महाकौशल क्षेत्र)। लोकसभा चुनाव 2019 में मध्यप्रदेश के महाकौशल क्षेत्र की 6 सीटों में 5 पर भाजपा ने कब्जा कर लिया है। कांग्रेस को केवल छिंदवाड़ा सीट पर जीत मिली है, जबकि जबलपुर, सीधी, शहडोल, मंडला, बालाघाट में भाजपा का परचम लहराया है। बता दें कि इन सभी सीटों पर बंपर वोटिंग दर्ज की गई थी। इनमें भाजपा ने जहां अपने गढ़ को मजबूत किया है, वहीं छिंदवाड़ा में अभी भी कमलनाथ का जादू बरकरार है। इनमें सीधी (रीति पाठक-अजय सिंह) और जबलपुर (राकेश सिंह-विवेक तन्खा) वीआईपी सीटें थी जिन पर भाजपा ने जीत दर्ज की।

जबलपुर Lok Sabha

प्रदेश की वीआईपी सीटों में शामिल जबलपुर में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के विवेक तन्खा को 4 लाख 54744 वोटों से पराजित किया। इन दोनों प्रत्याशियों के बीच 2014 में भी मुकाबला हुआ जिसमें राकेश सिंह जीते थे। इस बार जबलपुर में 69.50% मतदान हुआ था जबकि पिछले चुनावों में 58.53 प्रतिशत मतदान हुआ था।

छिंदवाड़ा Lok Sabha

छिंदवाड़ा सीट एक बार फिर कांग्रेस के खाते में गई है। यहां मुख्यमंत्री कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ कांग्रेस प्रत्याशी ने भाजपा के नत्थन शाह कवरेती को 37 हजार 536 वोटों से हराया। यहां से कमलनाथ लगातार सांसद रहे हैं और उन्होंने अपनी राजनीतिक विरासत को आगे बढ़ाते हुए बेटे नकुलनाथ को मैदान में उतारा। इस बार छिंदवाड़ा में 82.10% फीसदी मतदान दर्ज किया गया है जो पूरे प्रदेश में सबसे ज्यादा है।

सीधी Lok Sabha

सीधी में भाजपा की मौजूदा सांसद रीति पाठक कांग्रेस प्रत्याशी व पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह को 2 लाख 88 हजार से ज्यादा वोटों से जीतीं। रीति पाठक की ये जीत काफी बड़ी है क्योंकि अजय सिंह प्रदेश के कद्दावर कांग्रेस नेता है। सीधी में इस बार 69.45% मतदान हुआ है।

शहडोल Lok Sabha

शहडोल में भाजपा की हिमाद्री सिंह ने कांग्रेस की प्रमिला सिंह को बड़े अंतर से हराया। हिमाद्री सिंह 4 लाख 3 हजार से ज्यादा वोटों से जीतीं। इस बार शहडोल में बंपर 74.70% मतदान दर्ज हुआ था जिसका सीधा फायदा भाजपा को मिला। शहडोल में खास बात ये है कि कांग्रेस और भाजपा दोनों ही पार्टियों ने दल बदलकर आए नेताओं को अपना प्रत्याशी बनाया। भाजपा की उम्मीदवार हिमाद्री यहां से पिछली बार कांग्रेस की उम्मीदवार थी, वहीं कांग्रेस प्रत्याशी प्रमिला सिंह भाजपा छोड़ हाल ही में कांग्रेस में शामिल हुई।

मंडला Lok Sabha

मंडला में भाजपा के मौजूदा सांसद फग्गनसिंह कुलस्ते ने कांग्रेस के कमल मरावी से 97 हजार से ज्यादा वोटों से हराया। कुलस्ते क्षेत्र के बड़े नेता हैं। लेकिन यहां आदिवासी गोंगपा (गोंडवाणा गणतंत्र पार्टी) का दबदबा रहता है और कांग्रेस ने गोंगपा के मरावी को अपनी पार्टी में शामिल कर प्रत्याशी बनाया। इस बार मंडला में 77.45% मतदान हुआ था।

बालाघाट Lok Sabha

बालाघाट में भाजपा के ढाल सिंह बिसेन ने कांग्रेस के मधु सिंह भगत से 2 लाख 40 हजार से ज्यादा वोटों से हराया। भाजपा ने यहां वर्तमान सांसद बोध सिंह भगत का टिकट काटकर बिसेन को मौका दिया। वहीं भाजपा से बागी होकर निर्दलीय चुनाव लड़ रहे बोध सिंह भगत को 3 लाख 85 हजार से ज्यादा वोट मिले। भाजपा ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया है। बालाघाट में 76.96% मतदान हुआ है। वहीं 2014 के चुनावों में यहां मतदान का प्रतिशत 68.21 रहा था।

Posted By: Rahul Vavikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस