जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। वातावरण में ठंडक का अहसास अब धीरे-धीरे बढ़ने लगा है। पहाड़ों से आ रही उत्तरी-पूर्वी हवा ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। शनिवार को सुबह - सुबह जहां तेज ठंड महससू की गई, वहीं धूप का असर कम कम हो रहा। ठंडी हवाएं लोगों को सिहराती रही।

गत रात में भी तेज ठंड का अहसास बना रहा। तापमान भी अपनी जड़ता तोड़ते हुए अब कम हो रहा है। अधिकतम तापमान 29 से घटकर 28 और न्यूनतम तापमान भी 14.9 से गिरकर 13 डिग्री सेल्सियस पर आ गया। मौसम विभाग का कहना है कि मौसम पूरी तरह से साफ हो चुका है। उत्तरी हवाएं भी दो से तीन किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से चल रही है। लिहाजा ये संभावना जताई जा रही है कि आने वाले दिनों में ठंड बढ़ जाएगी।

चलने लगी बर्फीली हवाएं: पहाड़ों से आ रही बर्फीली हवाओं ने फिजाओं में ठंडक घोलना शुरू कर दिया है। शुक्रवार की रात में अचानक ठंड का अहसास बढ़ गया। बर्फीली हवा लीगो को तेज ठंड से परेशान करती रही। लोग ठंड बचने गर्म कपड़े पहने नजर आने लगे हैं। ठंड के कारण सुबह-सुबह ओस की बूंदे बिछने लगी है। मौसम विभाग की माने तो पिछले दिनों पश्चिमी विक्षोभ के कारण जबलपुर सहित प्रदेश के जिलों में हुई बूंदाबांदी के कारण वातावरण में ठंड और नमी बढ़ गई है। आने वाले दिनों में अधिकतम और न्यूनतम तापमान में और गिरावट देखी जा सकेगी। ठंड का असर बढ़ने लगेगा।

अब पड़ेगी कड़ाके की ठंड- दिसंबर के आगमन के पहले ठंड ने जो तेवर बदले है। उसे देखते हुए कहा जा रहा है कि आने वाले दिनों में अब कड़ाके की ठंड पड़ेगी।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local