जबलपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पंचायत चुनाव के पहले चरण में जिले में 75 प्रतिशत से अधिक मतदान हुआ। जिले के बरगी (जबलपुर), पनागर, कुंडम और सिहोरा जनपदों में पंच, सरपंच, जनपद पंचायत सदस्य एवं जिला पंचायत सदस्य के लिए वोट पड़े। सभी जगह शांतिपूर्ण मतदान हुआ।

सुबह से ही मतदान केंद्रों पर लंबी कतारें लगी रहीं। दोपहर 12 बजे के बाद मतदान केंद्रों पर वोट डालने वालों की संख्या लगातार बढ़ती गई। मतदान का समय दोपहर तीन बजे तक निर्धारित था। इसके बावजूद बड़ी संख्या में मतदाताओं की मौजूदगी को देखते हुए कई केंद्रों में दोपहर तीन बजे के बाद भी मतदान हुआ। पनागर के तिवारीखेड़ा मतदान केंद्र में पंच प्रत्याशियों के बीच हुए विवाद से रात 10.30 बजे तक मतदान चलता रहा। मतदान को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने प्रशासन ने जरूरी इंतजाम किए थे। संवेदनशील माने जाने वाले मतदान केंद्रों पर सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त रहे।

पहले चरण में जिले की 270 पंचायतों में मतदान

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के पहले चरण में शनिवार को जिले की चार जनपद पंचायतों की 270 ग्राम पंचायतों में मतदान हुआ। मतदान के दौरान कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की जानकारी नहीं मिली है। जबकि प्रथम चरण के मतदान में जनपद पंचायत जबलपुर-बरगी, सिहोरा, पनागर और कुंडम की 270 ग्राम पंचायतों के 256 सरपंचों, 83 जनपद सदस्यों और 10 जिला पंचायत सदस्यों का भाग्य मतपेटियों में बंद हो गया है। मतदान के ठीक बाद यह भी साफ हो गया कि प्रत्याशियों द्वारा मतदाताओं को अपने पक्ष में करने की कोशिशें कितनी कामयाब रहीं।

यह भी पढ़ें ः Jabalpur Corona Update : तीन मरीजों ने दी कोरोना को मात, छह और मिले

जिले की चारों जनपद पंचायतों में शनिवार को सुबह सात बजे से दोपहर बाद तीन बजे तक मतदान चला। जनपद पंचायत जबलपुर-बरगी, सिहोरा, पनागर और कुंडम में 270 ग्राम पंचायतें हैं। यहां 84 जनपद सदस्यों और 10 जिला पंचायत सदस्यों के क्षेत्र भी आते हैं। हालांकि मतगणना के बाद चारों जनपद की 270 ग्राम पंचायतों के 256 सरपंचों, 83 जनपद सदस्यों और 10 जिला पंचायत सदस्यों के निर्वाचन की अधिकृत घोषणा की जाएगी। बता दें, कि इन चार जनपद पंचायतों में स्थित 14 सरपंच पदों पर निर्विरोध निर्वाचन पहले ही हो चुका है। इसी तरह से एक जनपद सदस्य का भी निर्विरोध निर्वाचन हो चुका है। इसलिए सरपंच पद के लिए 256 और जनपद सदस्य के लिए 83 पंचायतों में ही वोट डाले गए हैं। इसके अलावा जिला पंचायत के भी 10 क्षेत्रों के लिए वोट डाले गए। इन क्षेत्रों में क्षेत्र क्रमांक-1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 14 व 15 शामिल हैं।

देर शाम तक मिल गए संकेत

मतदान प्रक्रिया समाप्त होते ही तीन बजे के बाद मतगणना का काम शुरू हो गया। तीन बजे तक जो लोग मतदान केंद्र परिसर में आ चुके थे, उन सभी को मतदान का अवसर दिया गया। इसके बाद मतगणना का काम शुरू हुआ जो करीब दो घंटे चला। वोटरों की संख्या के चार गुने मत डाले गए थे, इसलिए उनको छांटने, उनको वैध-अवैध जांचने, उनके बंडल बनाने और फिर गणना पूर्ण होने के बाद गणना-पत्रक तैयार करने में काफी समय लग गया। इतना कुछ होते-होते सभी प्रत्याशियों के अभिकर्ताओं को इसका अंदाजा हो गया कि किसको खुश होने का अवसर मिल रहा है। हालांकि जिला पंचायत और जनपद सदस्यों के लिए गुणा-भाग करने में समय लग गया। जिला पंचायतों का गणित तो देर रात तक प्रत्याशी नहीं लगा पाए।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close