जबलपुर/ सिंगरौली, नईदुनिया प्रतिनिधि । कौन बनेगा करोड़पति की हाट सीट पर बैठकर अमिताभ बच्चन एक-एक कर सवाल पूछते रहे। सवाल का जवाब सही है या गलत, इसे जानने के लिए दर्शकों की निगाहें 'कंप्यूटर जी" पर टिकी रहीं। जिले की डिप्टी कलेक्टर संपदा सराफ गुरुवार को सदी के महानायक अमिताभ बच्चन के सवालों के जवाब सूझबूझ से देती रहीं। 25 लाख के सवाल का उन्होंने गलत जवाब दिया। हालांकि वह 3.20 लाख रुपये जीत गईं। संपदा की मां की जिद ने ही उन्हें केबीसी के शो तक पहुंचाया। शो की शूटिंग एक पखवाड़े पहले मुंबई में हुई थी।

20 वर्षों से शो देख रही थीं संपदा की मां : संपदा सराफ ने बताया कि उनकी मां नंदिनी सराफ करीब 20 वर्षों से केबीसी का शो देख रही हैं। उनकी हमेशा से इच्छा रही है कि घर से कोई केबीसी तक जाए और हाट सीट पर बैठ कर बिग बी के सवालों का जवाब दे। वह पंजीयन के लिए घर के लोगों को प्रेरित करती रहीं। अप्रैल में मां के कहने पर संपदा ने रजिस्ट्रेशन कराया। रजिस्ट्रेशन के बाद पहले चरण में तीन प्रश्न पूछे गए, जिसके जवाब उन्होंने दिए। दूसरे चरण के लिए सवालों के जवाब दिए। फिर वह दिन भी आया, जब शूटिंग के लिए उन्हें मुंबई बुलाया गया।

अरे! आप तो सरकार हैं : अमिताभ बच्चन को जब पता लगा कि जबलपुर निवासी संपदा डिप्टी कलेक्टर हैं तो उन्होंने कहा कि अरे आप तो सरकार हैं। जिसको चाहे अंदर कर सकती हैं। इस पर संपदा ने हंसते हुए कहा कि नहीं सर, सरकार तो आप हैं। संपदा के पति शशांक सिंह गुर्जर सीहोर जिले के बुदनी में एसडीओपी हैं। पिता आदर्श सराफ उपसंचालक अभियोजन के पद से सेवानिवृत्त हुए हैं। मां नंदिनी सराफ ला अरफिसर हैं। वहीं ससुर जेएस गुर्जर कृषि विभाग भोपाल में डिप्टी डायरेक्टर हैं।

सोनू सूद ने भी सराहा : बिग बी ने शो के दौरान संपदा की बात अभिनेता सोनू सूद से कराई। सोनू सूद ने बताया कि संपदा ने कोविड पीड़ितों की काफी मदद की थी। संपदा ने भी बताया कि वे शो में जीती गई राशि को गरीब, बुजुर्गों की सेवा में अर्पित करेंगी।

चुनाव की तैयारी के साथ खुद की तैयारी : संपदा सराफ बताती हैं कि वह त्रिस्तरीय चुनाव की तैयारी में जुटी थीं। रोजाना 10 से 12 घंटे चुनाव के कार्यों में व्यस्त रहती थीं। केबीसी के सवालों का सटीक जवाब देने के लिए तैयारियां भी करती रहीं। करंट अफेयर्स के साथ इतिहास, राजनीति और समाज से जुड़ी जानकारियों का गहन अध्ययन किया। इसके लिए अलग से समय निकाल कर मेहनत करनी पड़ी।

कुछ नया करने की चाहत : डिप्टी कलेक्टर संपदा सराफ ने बताया कि हमेशा मन में कुछ नया करने की चाहत होनी चाहिए। इससे अनुभव भी मिलता रहेगा। हमें कभी जीवन में हार नहीं मानना चाहिए। यदि हार मिली भी तो जीत भी मिलेगी।

अमिताभ बच्चन के फैन हैं पिता : संपदा बताती हैं कि पिता आदेश सराफ अमिताभ बच्चन के फैन हैं। हमेशा से इनकी फिल्में देखना, हेयर स्टाइल, कपड़ों का ध्यान रखते हैं। आसपास के लोग तो उन्हें अमिताभ बच्चन के नाम से भी बुलाने लगे हैं।

बिग बी ने बढ़ाया उत्साह : सुपरस्टार अमिताभ बच्चन से मिलने के अनुभव पर संपदा सराफ ने बताया कि केबीसी के सेट पर महानायक से मिलने का जो अवसर मिला है, उससे वह अभिभूत हैं। अभिताभ बच्चन बहुत ही सहज हैं और उन्होंने केबीसी में उनका उत्साह बढ़ाया।

Posted By: tarunendra chauhan

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close