मंडला / रायसेन। मध्य प्रदेश में आसमान से आफत बरस रही है। पिछले 48 घंटों से प्रदेश के हर हिस्से में भारी बारिश हो रही है। इसके चलते तमाम बड़ी नदियां खतरे के निशान तक पहुंच गई हैं। आज भी मौसम विभाग ने मध्य प्रदेश के होशंगाबाद, इंदौर, भोपाल, रायसेन समेत दो दर्जन से ज्यादा जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। इसका असर भी नजर आ रहा है।

आज सुबह से ही मंडला में भारी बारिश हो रही है। इसके चलते नर्मदा नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। मंडला जिले के तीन मुख्य मार्ग बंद हो गए हैं। मंडला से डिंडोरी, मंडला से घुघरी, चिरेडोंगरी से कान्हा नेशनल पार्क जाने वाले रास्ते पर आवाजाही पूरी तरह बंद।

मंडला का जबलपुर और अन्य क्षेत्रों से संपर्क टूट गया है। क्षेत्र में प्रशासन अलर्ट पर है और कई स्थानों पर होमगार्ड के जवानों को तैनात किया गया है। यहां से डिंडौरी और सिवनी वाला रास्ता भी बारिश के चलते बंद हो गया है।

रायसेन में भी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। लगातार हो रही बारिश से क्षेत्र टापू बन गया है। यहां के बारना बांध के 8 गेट खोल दिए गए हैं। बारिश के बाद यहां के बारना पुल से नदी का पानी बहने लगा। यहां जलधार करीब 15 फीट पर रही। क्षेत्र में पुल से पानी बहने के चलते नेशनल हाईवे पर जाम लग गया।


खुले बरगी बांध के गेट

नरसिंहपुर में तेज बारिश होने से बरगी बांध के गेट सुबह 9 बजे ही खोल दिए गए थे। तेज बारिश से पानी की आवक अधिक होने से बांध के 5 गेट खोले गए। इसके बाद कुछ और गेट खोले गए। बताया जा रहा है कि डैम के पास का पुल डूबने की कगार पर है। मिली जानकारी केे अनुसार बांध से 205000 qsec पानी छोड़ रहे है 9 गेट 3मीटर 6 गेट 1.5मीटर खुले हैं। बांध के गेट खुलने के बाद नर्मदा के तटवर्ती क्षेत्रों का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। क्षेत्र मेंं हो रही तेज बारिश के बाद प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है।


भारी बारिश से सागर-भोपाल मार्ग बंद

तेज बारिश के चलते सागर-भोपाल मार्ग पर आवाजाही बंद हो गई। यहां पग्नेश्वर पुल पर 20 फीट पानी आ गया। सिलवानी में नदी में उफान आ गया। इस कारण उदयपुरा का आसपास के क्षेत्रों से संपर्क टूट गया। बारिश के चलते जिला मुख्यालय के निचले क्षेत्रों में पानी भर गया। यहां सड़कें तालाब में बदल गईं। तेज बारिश के चलते कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने स्कूलों मेंअवकाश किया घोषित कर दिया है। बारिश के चलते हालात ये हैं कि छोटे-बड़े नदी-नालों ने विकराल रूप धारण कर लिया है। सीहोर में भी बारिश से हाल बेहाल हैं। सभी नदी-नाले उफान पर हैं। इलाके की कई निचली बस्तियों में पानी घुस गया है। रपटों पर से पानी बह रहा है।

दमोह में भारी बारिश से बिगड़े हालात

भारी बारिश के चलते तेंदूखेड़ा का मुख्य मार्गों से संपर्क टूट गया है। दमोह-जबलपुर मार्ग बंद हो गया है। भारी बारिश के बाद बिगड़े हालात का जायजा लेने के लिए थाना प्रभारी इंद्रा ठाकुर मौके पर पहुंचीं।