जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मातारानी के विविध रूपों के दर्शन करने के लिए संस्‍‍कारधानी की सड़कों में बुधवार की देर रात तक भक्तों का मेला लगा रहा। दुर्गा पंडालों के सामने लोग परिवार सहित पहुंच रहे थे। शाम 7 बजे से शुरू दर्शनों का क्रम देर रात तक जारी रहा। संकरी सड़कों में विशेष की व्यवस्था रही। सबसे ज्यादा संख्या सुनरहाई, नुनहाई, गढ़ाफाटक में देखने मिली। वहीं नवरात्र की नवमी पर गुरुवार को अनुष्ठान का समापन होगा।

मां सिद्धिदात्री का होगा पूजन : धार्मिक ग्रंथों में नवरात्र के सभी दिनों में नवमी के दिनों को सबसे उत्तम माना गया है। मान्यता है कि महानवमी को की जाने वाली पूजा, नवरात्र के अन्य सभी आठ दिनों में की जाने वाली पूजा के बराबर पुण्य फलदायी होती है। नवमी के दिन मां सिद्धिदात्री की पूजा के लिए प्रातः काल स्नान आदि करके साफ कपड़ा पहनें। उसके बाद कलश स्थापना के स्थान पर मां सिद्धिदात्री की प्रतिमा स्थापित कर उन्हें गुलाबी फूल चढ़ाएं। उसके बाद धूप, दीप, अगरबत्ती जलाकर उनकी पूजा करें। इसके बाद मां सिद्धिदात्री के बीज मंत्रों का जाप करें। उसके बाद आरती कर पूजा समाप्त करें।

घरों में कराया कन्या भोज : घरों में विशेष रूप से कन्या भोज का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें कन्याओं को विशेष रूप से वस्त्र, खिलौने और फल भेंट किए जा रहे हैं। कोरोना गाइडलाइन जारी होने के कारण इस बार भी सामूहिक भोज और भंडारा नहीं देखे जा रहे।

विहिप ने किया पाठ : विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल आयुध जिला द्वारा सनातन धर्म के शौर्य का प्रतीक शस्त्र पूजन देश और धर्म को शक्तिशाली बनाने की कामना को लेकर सदर आजाद चौक में विशाल शस्त्र पूजन किया गया। इस दौरान श्री दुर्गा कवच एवं आदित्य हृदय स्त्रोत का पाठ कार्यकर्ताओं द्वारा पाठ देश व धर्म की उन्नति की कामना की गई। कार्यक्रम में प्रांत संगठन मंत्री सुरेंद्र सिंह, प्रांत सह मंत्री प्रदीप गुप्ता आदि उपस्थित रहे।

भक्तों ने की महाआरती : नव दुर्गा उत्सव समिति द्वारा ग्राम बसनिया देवरी में मां जगदंबा की महाआरती की गई। इस दौरान समिति के अध्यक्ष सुजल दुबे, सुनील दुबे, विलेश यादव, रोहित दुबे, राहुल दुबे, ऋषभ दुबे, आलोक पाठक आदि उपस्थित रहे।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local