...

जबलपुर। (वि.)

सफलता किसी की मोहताज नहीं होती। मेहनत से आगे बढ़ने वालों को कोई भी बाधा रोक नहीं सकती। ऐसे कई उदाहरण दुनिया में मौजूद हैं, जहां एक व्यक्ति की सकारात्मक सोच व दृढ़ इच्छाशक्ति ने दुनिया को झुका दिया। अगर हौसले बुलंद हों और दिल में मंजिल पाने की चाहत हो तो कोई भी परिस्थिति इंसान को रोक नहीं सकती। आज मुझे बहुत खुशी है कि समुत्कर्ष के छात्रों ने एक बार पुनः मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षा में अपना परचम लहराकर हम सभी को गौरवांवित किया है।

उक्त विचार समुत्कर्ष द्वारा आयोजित प्रतिभा सम्मान समारोह में विद्याभारती महाकोशल प्रांत के प्रचारक श्रीरंग राजे ने मुख्य अतिथि के रूप में व्यक्त किए। कार्यक्रम की अध्यक्षता सरस्वती शिक्षा परिषद के अध्यक्ष डॉ. राजकुमार आचार्य ने की। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2018 की मप्र लोक सेवा आयोग की परीक्षा में समुत्कर्ष के 14 छात्रों ने सफलता हासिल की है। समुत्कर्ष विद्याभारती महाकोशल प्रांत द्वारा मार्गदर्शित प्रकल्प है, जो पिछले दो वर्षों से विभिन्न प्रशासनिक परीक्षाओं की निशुल्क तैयारी कराता है। इन दो वर्षों में 62 छात्र एमपीपीएससी की परीक्षा में सफल हुए हैं। समारोह में समुत्कर्ष के संरक्षक व मप्र लोक सेवा आयोग के पूर्व अध्यक्ष डॉ. विपिन बिहारी ब्यौहार, डॉ. सुरेश्वर शर्मा, डॉ. पवन तिवारी, डॉ. एडीएन वाजपेयी, डॉ. कपिलदेव मिश्र, डॉ. नरेन्द्र कोष्टी, डॉ. एबी श्रीवास्तव, डॉ. अतुल दुबे, डॉ. आशीष मिश्र आदि उपस्थित रहे।