...

जबलपुर। नईदुनिया रिपोर्टर

जरी व रेशम किनार से बनी चंदेरी साड़ियों के साथ ही महेश्वर, बाटिक, बाग प्रिंट की साड़ियां हर आने वाले का दिल लुभा रही है। कलाकारों के हाथों के हुनर से सजी कलाकृतियां, पंच धातु की मूर्तियां हमारी कला संस्कृति की अनुपम छठा का प्रदर्शन कर रही हैं। यह नजारे देखने मिल रही है गोलबाजार में चल रहे हस्तशिल्प हाथकरघा मेला मप्र प्रदर्शनी-2019 का। जिसका आयोजन 11 मई तक किया जा रहा है।

मेले की खासियत है तरह-तरह के ड्रेस मटेरियल। इनमें सिल्क, शिफॉन, क्रेप, मसलिन कॉटन, शासकीय डिस्काउंट पर उपलब्ध हैं। मेला संयोजक एमएल शर्मा ने बताया कि मेला हर दिन दोपहर 12 बजे से रात 9 बजे तक शहरवासियों के लिए खुला रहेगा।