....

जबलपुर। नईदुनिया रिपोर्टर

युवा पीढ़ी के अंदर असीमित ऊर्जा समाहित रहती है। इस ऊर्जा का सही दिशा में उपयोग करने से जीवन में सफलता मिलना सुनिश्चित हो जाता है। आज की स्थिति में ऐसा कोई क्षेत्र नहीं है जहां रोजगार उपलब्ध न हो। मेहनत, लगन और समर्पण से रोजगार सरलता से पाया जा सकता है। यदि रोजगार के मार्ग उपलब्ध नहीं हो पा रहा है तो व्यवसाय का क्षेत्र भी खुला हुआ है। यह बात मध्यप्रदेश शासन के मंत्री लखन घनघोरिया ने कही। मौका था श्री जानकीरमन कॉलेज में अखिल भारतीय ब्राह्मण एकता परिषद द्वारा आयोजित रोजगार मेले का। इसमें शहर व आसपास के क्षेत्रों से बड़ी संख्या में युवा रोजगार की तलाश में पहुंचे। रोजगार मेले में 15 कंपनियों ने शिरकत की। इसमें पहले राउंड में 35 लड़के-लड़कियों को अगले राउंड के लिए चयनित किया गया। कंपनी में इनका इंटरव्यू लिया जाएगा।

दिव्यांग के लिए डॉ.पवन स्थापक ने अपने संस्थान में रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए आमंत्रित किया है। जिला रोजगार एवं व्यापार कार्यालय व सामाजित न्याय विभाग की योजना के साथ कुल मिलाकर 15 स्टॉल लगाए गए। कार्यक्रम में महापौर डॉ.स्वाति गोडबोले भी उपस्थित रहीं। इस अवसर पर व्यक्तित्व विकास कैसे इस पर युवाओं को मार्गदर्शन प्रदान किया गया। विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार के लिए विशेषज्ञों द्वारा मार्गदर्शन प्रदान किया गया। इस दौरान युवाओं में खासा उत्साह देखने को मिला। हाथों में डिग्री और अपने जरूरी दस्तावेजों के साथ रोजगार मेले में पहुंचे युवाओं को इस मेले से काफी उम्मीद रही। इसमें विकलांग युवा भी शामिल हुए। सभी ने अपनी-अपनी क्षमता के अनुसार विभिन्न कंपनियों की शर्तों को पूरा कर नौकरी की उम्मीद पक्की की।

समारोह में सनाढ्य संगम से राजेश पाठक व महेश स्थापक ने कार्यक्रम संयोजक दीपक पचौरी को सम्मानित किया। दीपक पचौरी ने कहा कि इस मेले का उद्देश्य युवाओं को समुचित मार्गदर्शन प्रदान करना है और इस दिशा में हम सफल भी हुए हैं। आयोजन में अभिलाषा शुक्ला, अनिल पचौरी, सुलोचना विश्वकर्मा, शिवशंकर दुबे, आशीष गर्ग, नवीन पटेल, विजय साहू, मनोज सतनामी आदि का योगदान रहा। इस अवसर पर राजेश तिवारी, अवधेष उरमलिया, रावेन्द्र तिवारी, संजय शुक्ला आदि उपस्थित रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network