----

जबलपुर। नईदुनिया रिपोर्टर

अंतर राष्ट्रीय शोध पत्रिका शोध नर्मदा शासकीय महाकोशल कॉलेज द्वारा शोध प्रविधि के मूलतत्व विषय पर तीन दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का उद्घाटन मुख्य अतिथि सागर से आए डॉ.आनंद प्रकाश त्रिपाठी ने किया। इन्होंने कहा कि शोध केवल परंपरा का अन्वेषण ही नहीं है। आज अनुसंधान न होकर नकल की जा रही है जो वर्तमान शोध कार्य को कटघरे में चिन्हित कर रही है। विमर्शों पर शोध के लिए समाजशास्त्रीय अध्ययन व मौलिक साहित्य के अध्ययन की अनिवार्यता होनी चाहिए। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रभारी प्राचार्य डॉ.आभा पाण्डेय ने करते हुए कहा कि शोध के माध्यम से समाज की उन्नाति शोध की सबसे बड़ी प्रासंगिकता होनी चाहिए। कार्यक्रम का संयोजन डॉ.अरुण शुक्ला ने किया। संचालन डॉ.ब्रजेश श्रीवास्तव ने किया। इस अवसर पर डॉ.सारिका पाण्डेय, डॉ.गीता सरकार, डॉ.मुकेश शाह, डॉ.किरण जैन, डॉ.राजीव मिश्र, डॉ.रश्मि टंडन आदि उपस्थित रहीं।

Posted By: Nai Dunia News Network