जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच) नंबर 30 सिवनी—जबलपुर—कटनी—रीवा को चार परियोजनाओं के अंतर्गत 'एक्सप्रेस-वे की तर्ज पर दो लेन से कंक्रीट फोरलेन बनाने का काम हो चुका है। वर्तमान में इस नई सड़क का कटा—फटा हिस्सा और इस पर फर्राटे भरते वाहनों की रफ्तार ही नागरिकों की जान का खतरा बन गई है। नतीजा एनएच-30 पर पनागर, गोसलपुर, सिहोरा, धनगवां, स्लीमनाबाद में आबादी क्षेत्र से जुड़ने वाले तिराहे और जर्जर हिस्से पर हादसे हो रहे हैं।

नागरिकों ने बताया कि एनएच—30 पर जबलपुर—स्लीमनाबाद के बीच एक माह में फर्राटे भरते वाहनों ने एक के बाद एक डेढ़ दर्जन हादसों को अंजाम दिया, जिसमें 4 लोगों की मौत हो गई। पनागर, गोसलपुर, सिहोरा, स्लीमनाबाद थाना क्षेत्र के अलग—अलग हादसों में घायल 23 लोगों का अब तक इलाज चल रहा है। हादसों का एक मुख्य कारण फोरलेन सड़क से जुड़ने वाली आबादी क्षेत्र की सड़कों के यातायात की योजना बनाकर काम नहीं करना है। इस फोरलेन के सिहोरा बायपास को सीधे खितौला तिराहे से जोड़ा गया है। इससे तीन ओर जबलपुर, कटनी और सिहोरा आने जाने वाले वाहन यहां पहुंचते हैं। किसी वाहन चालक की एक गलती हादसे का कारण होती है। इस सड़क पर जबलपुर की ओर से आते वाहन चालक को कटनी की ओर से आते वाहन नहीं दिखते, जिससे हादसे होने की आशंका रहती है।

सड़क पर उभरीं दरारें: गोसलपुर से सिहोरा होकर स्लीमनाबाद के बीच इस नई सड़क पर जगह—जगह दरारें उभर आईं हैं। बाइक, कार—जीप से सफर करने पर गोसलपुर में अंडर व्हीकल पास सड़क का कुछ हिस्सा धंस गया है। स्लीमनाबाद के पहले छोटे पुल का 20 फीट का हिस्सा जर्जर है।

रात को नहीं दिखते वाहन: इस सड़क पर तेज रफ्तार से दौड़ते वाहन चालकों को आबादी क्षेत्र की सड़कों के तिराहे में रात को अंधकार होने से दोपहिया वाहन दिखाई नहीं देते। निर्धारित से ज्यादा रफ्तार होने के कारण बड़े वाहनों के चालक छोटे वाहनों को टक्कर मारकर हताहत कर देते हैं।

एक माह में यहां हुए हादसे

(पुलिस के अनुसार)

थानाक्षेत्र हादसे मृत घायल

पनागर 4 — 7

गोसलपुर 3 1 5

सिहोरा 5 1 6

स्लीमनाबाद 6 2 5

Posted By: Ravindra Suhane

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस