जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। छह महीने से मानदेय सहित अन्य भत्तों की मांग को लेकर शुक्रवार को सैकड़ा भर से ज्यादा आशा कार्यकर्ताओं ने कलेक्टर कार्यालय के गेट नंबर एक के बगल में प्रदर्शन किया। इन महिला कार्यकर्ताओं की मांग रही कि वे अपनी बात कलेक्टर डा. इलैयाराजा टी के समक्ष ही रखेंगी।

करीब दो घंटे तक जमीन पर ही बैठी रही आशा कार्यकर्ताओं का कहना था कि उनको छह महीने से मानदेय नहीं दिया जा रहा। उनको परिवार नियोजन सहित अन्य कार्यों के लिए प्रोत्साहन राशि दिए जाने का प्रावधान है, लेकिन उनको वो राशि बीते छह महीनों से प्रदाय नहीं की गई है। जब भी वो लोग अपनी पैसों के लिए सीएमएचओ सहित अन्य अधिकारियों से बात करते हैं - तो उनको बजट नहीं होने की बात कहते हुए टाल दिया जाता है।

नाराज आशा कार्यकर्ताओं का कहना रहा कि उनके स्वास्थ्य परीक्षण के लिए शासन से राशि आई, लेकिन किसी का भी स्वास्थ्य परीक्षण नहीं कराया गया। अधिकारी उनकी बात नहीं सुनते। इस संबंध में कई बार सीएमएचओ डा. रत्नेश कुररिया को ज्ञापन भी सौंपा गया। लेकिन उनकी समस्याओं के निराकरण की बजाय उनको ही धमकाया जाता है कि नेतागिरी करोगी तो देख लेंगे।

आना पड़ा एडीएम को

आशा कार्यकर्ताओं से ज्ञापन लेने के लिए पहले तहसीलदार सुरेश सोनी आए, इसके बाद डिप्टी कलेक्टर सृष्टि प्रजापति आईं, फिर एडीएम शेरसिंह मीणा आए। लेकिन आशा कार्यकर्ताओं ने किसी को ज्ञापन नहीं दिया, वो अड़ी रहीं कि अपनी बात कलेक्टर के सामने ही रखेंगी। थक-हारकर अधिकारियों ने आशा कार्यकर्ताओं की बात मोबाइल पर कलेक्टर से कराई। कलेक्टर ने उनसे कहा कि वो उनके प्रतिनिधिमंडल से सोमवार को मुलाकात करेंगे। इसलिए वो फिलहाल एडीएम मीणा को अपना पत्र दे दें। इस मौके पर एडीएम शेरसिंह मीणा ने उनका रूका हुआ भुगतान जल्द कराने का भरोसा दिलाया।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close