जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। प्रधानमंत्री की महत्वाकांछी आवास योजना को ठेकेदार पलीता लगा रहे हैं। निगमायुक्त ने जबलपुर में पीएम आवास योजना के तहत चार माह में 768 आवास बनाने के निर्देश दिए थे। निगमायुक्त ने जब आवास परियोजनाओं की बारीकी से समीक्षा की तो पता चला ठेकेदार लापरवाही बरत रहे हैं। तिलहरी पीएम आवास परियोजना में लापरवाही सामने आने पर निगमायुक्त आशीष वशिष्ठ ने जानबूझकर लापरवाह करने के कारण निर्माण एजेंसी बीआर गोयल का ठेका निरस्त करने और कंपनी को काली सूची (ब्लैक लिस्टेड) में डालने करने का नोटिस जारी किया।

निगमायुक्त द्वारा प्रत्येक परियोजना स्थलों की विस्तृत समीक्षा करते हुए कहा कि जब नगर निगम द्वारा संपूर्ण भुगतान कर दिया गया है, कोई भी देयक भुगतान के लिए लंबित नहीं है, तो ठेकेदारों को आवश्यक संसाधनों की व्यवस्था कर समयावधि में कार्य पूरे क्यों नहीं किए जा रहे? उन्होंने ये हिदायत भी दी कि जो कार्य चार माह में पूर्ण होने वाले है उन्हें समय सीमा में पूर्ण करें वरना ठेकेदारों को ब्लैक लिस्टेड करते हुए समस्त देय राशि राजसात कर ली जाएगी।

हर हाल में पूरी करो परियोजना-

निगमायुक्त ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के एएचपी घटक के अंतर्गत मोहनिया, कुदवारी, तेवर, तिलहरी व परसवाड़ा स्थलों पर 768 आवासों को आगामी चार माह में पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया था, इसके लिए 15 जनू 2022 को संचालनालय, नगरीय प्रशासन एवं विकास, भोपाल में निगमायुक्त आशीष वशिष्ठ की अध्यक्षता में आयोजित समीक्षा बैठक में भी इस लक्ष्य को पूर्ण करने के निर्देश दिए गए थे, लेकिन इसमें आपेक्षित प्रगति नहीं दिख रही है। उन्होंने 768 आवासों का निर्माण हर हाल में तय समय सीमा में पूरा करने के निर्देश दिए हैं।

लेमा गार्डन के आवास के लिए 30 जून तक जमा करें राशि-

निगमायुक्त ने लेमा गार्डन स्थित आवासों को 30 जून तक पात्रता सूची अनुसार एक हजार 111 हितग्राहियों को एक मुश्त राशि जमा करवा कर आवास आवंटित करने के निर्देश दिए। निर्धारित अवधि के पश्चात शहर के अन्य आवासहीन पात्र हितग्राहियों को भी एक मुश्त राशि जमा करने के उपरांत आवंटित किए जा सकेंगे।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close