जबलपुर, नईदुनिया रिपोर्टर। कोविड-19 के लक्षण, इलाज, सावधानियां रखने के लिए लगातार लोगों को जागरूक किया जा रहा है। सरकारी संस्थाओं से लेकर सामाजिक संस्थाएं निरंतर सभी को बता रहे हैं कि क्या करना है और कैसे करना है। इसके बाद भी लोगों के बीच जागरूकता की खासी कमी देखी जा रही है। लोग घरों से बाहर निकल रहे हैं। न तो मास्क लगाते हैं और न ही शारीरिक दूरी का पालन करते हैं। ऐसी स्थिति जागरूकता के प्रयासों को और बढ़ाने की जरूरत महसूस हो रही है। इस दिशा में एनएसएस के स्वयंसेवी ही बढ़ चढ़ कर काम कर रहे हैं।

समझाने पर लोग बहस करते थे: जिला संगठक डॉ आनंद सिंह राणा ने बताया कि विद्यार्थी इस समय इंटरनेट मीडिया पर सक्रिय हैं। पोस्टर बना कर कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक कर रहे हैं। इन पोस्टरों में बताया जा रहा है कि किस तरह से सावधानियां रखना चाहिए। क्या- क्या करना चाहिए। स्वयंसेवियों ने बताया कि कुछ दिनों पहले तक हम लोग शहर के आसपास के ग्रामीण इलाकों में जा कर लोगों को मास्क लगाने के किये जागरूक कर रहे थे। लेकिन लोग बहस करते हैं पर सुनते नहीं। गांव तो गांव , शहर में भी कई लोग लापरवाही कर रहे हैं। जिनके परिणाम आसपास के लोगों को झेलना पड़ते हैं।

हर हाथ में है मोबाइल:इसलिए हम लोगों ने इंटरनेट मीडिया को माध्यम बना कर लोगों को जागरूक करने का प्रयास शुरू किया। क्योंकि यही एक ऐसा माध्यम है जो सभी के हाथों में हैं। गांव हो या शहर सभी इंटरनेट मीडिया से जुड़े हैं। इसलिए जब बार- बार हम लोग ऐसे पोस्ट करेंगे तो कुछ लोगों को तो बात समझ आएगी। एनएसएस की अपील है कि जो समझदार लोग हैं वो भी अपने आसपास के लोगों को जागरूक करने की कोशिश करें। जिससे सभी मिलकर कोरोना को हर सकें।

Posted By: Sunil Dahiya

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags