जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

जबलपुर में मकान और भूमि की रजिस्‍ट्री कराने रोजाना डेढ़ सौ से ज्यादा लोग पहुंच रहे हैं। कोरोना संक्रमण को मद्देनजर रखते हुए कलेक्टर कार्यालय स्थित पंजीयन दफ्तर में बड़ी संख्या में लोग पहुंचते हैं , इसलिए खाली पड़े कमरों का उपयोग किया जाने लगा है।जिससे लोगों को संक्रमण से बचाया जा सके। पंजीयन कार्यालय में सुबह से शाम होने तक लोगों की भीड़ जमा हो रही है। जबलपुर सहित प्रदेश के अन्य बड़े शहरों में भी रजिस्ट्री का आंकड़ा बड़ा है। हालांकि इंदौर और भोपाल में सबसे ज्यादा रजिस्ट्री की जा रही है । यह जानकारी पंजीयन विभाग के अधिकारियों ने दी । नवरात्र के दौरान भी रजिस्ट्री कारोबार बेहतर हुआ है। दीपावली त्योहार आने तक लोग नई प्रापर्टी की खरीदी करेंगे और रजिस्ट्री भी कराएंगे। दर्ज होने वाले दस्तावेज में पुराने अनुबंधों की रजिस्ट्री शामिल हैं। यह जानकारी भी अधिकारियों ने दी है। शासन स्तर पर पिछले माह 2 फीसद स्टांप शुल्क की कमी की गई थी जिसके बाद लोगों में रजिस्ट्री कराने का उत्साह बढ़ा है। क्रेडाई के जिलाध्यक्ष धीरज खरे ने बताया कि कोरोना संक्रमण काल में भी लोग रजिस्ट्री कराने पहुंच रहे हैं। भूमि और भवन के लिए नई बुकिंग भी लोग कराने लगे है। गौरतलब है कि कोरोनाकाल में प्रापर्टी का कारोबार पूरी तरह ठप था और बिल्‍डर्स के पास कोई काम नहीं बचा था। अब त्‍योहार आते ही लोगों ने नए मकान खरीदने की तैयारी शुरू की है। ऐसे में उन लोगों को भी काम मिला है जो मकानों के न बनने से खाली बैठे थे ।

Posted By: Brajesh Shukla

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस