जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। आयुध निर्माणी खमरिया के सुरक्षा विभाग पर मनमानी का आरोप लगा है। ओएफके लेबर यूनियन की ओर से कहा गया है कि सुरक्षा विभाग का अमला अपने मूल दायित्व को दरकिनार रख निर्माणी के कर्मचारियों को ही परेशान करने में लगे हुए हैं।

ओएफके की लेबर यूनियन का कहना है कि एमआइएल की ओर से आयुध निर्माणी को भरपूर काम दिया गया है। निर्माणी के कर्मचारी अपनी ओर से बेहतर से बेहतर करने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन निर्माणी के सुरक्षा विभाग का स्टाफ औचक जांच के नाम पर रात के समय निर्माणी कर्मचारियों को बेवजह परेशान किया जा रहा है। सुरक्षा विभाग केे लोगों के चलते कर्मचारियों में नाराजगी है, वहीं इसकी वजह से फैक्ट्री का उत्पादन भी प्रभावित हो रहा है।

लेबर यूनियन के अर्णब दासगुप्ता का कहना है कि आमतौर पर सुरक्षा विभाग का मुख्य कार्य निर्माणी एवं निर्माणी के रहवासी परिसर की सुरक्षा करना होता है, लेकिन आयुध निर्माणी खमरिया के सुरक्षा विभाग का स्टाफ कभी सुरक्षा के नाम पर तो कभी सरप्राइज चेकिंग के नाम पर आम कर्मचारियों को परेशान करता है। इस मामले में लेबर यूनियन ने पहले भी महाप्रबंधक को पत्र लिखकर सुरक्षा विभाग के इस बर्ताव की शिकायत की थी, लेकिन महाप्रबंधक की समझाइश के बाद भी सुरक्षा विभाग का स्टाफ अपनी मनमानियों से बाज नहीं आ रहा। हाल ही में उसकी ओर से फिर निर्माणी के दो बड़े अनुभाग ए-1 और एफ-2 में सरप्राइज चेकिंग की गई। सुरक्षा विभाग अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए इस तरीके का काम कर रहा है। पूर्व में निर्माणी में और निर्माणी के रहवासी इलाकों से चोरी की अनेक घटनाएं हो चुकी हैं। हाल ही में निर्माणी के अंदर एक आम आदमी घुस आया था, लेकिन गेट पर सुरक्षा में लगे संतरियों की उस पर नजर नहीं पड़ पाई। इस तरह से सुरक्षा विभाग अपने मुख्य कार्यों को छोड़ कर्मचारियों पर ही मानसिक दबाव बनाने मेें लगा हुआ है। ओएफके लेबर यूनियन के पुष्पेंद्र सिंह, रामप्रवेश, राकेश रंजन, शरद अणवाल, शिवेंद्र रजक आदि ने महाप्रबंधक से मांग की है कि सुरक्षा विभाग की मनमानियों पर रोक लगाई जाए, अन्यथा वो आंदोलन करने विवश होंगे।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close