जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कोरियर के दफ्तर से मोबाइलों से भरा डिब्बा पार करने के मामले का पर्दाफाश हो गया है। पुलिस ने इस मामले में एक आरोपित को गिरफ्तार भी किया है, जिसकी निशानदेही पर चोरी किए गए सभी मोबाइल बरामद कर लिए गए। जब्त मोबाइलों की कीमत दो लाख दस हजार बताई जा रही है।

नरघैया निवासी संदीप जैन ने पिछले दिनों पुलिस कप्तान सिद्धार्थ बहुगुणा को दी शिकायत में बताया था कि इंदौर से जेई लेन मोबाईल इंडिया प्राईवेट लिमिटेड एसेसरीज इंदौर की ओर से रीवा स्थित मुन्नालाल मिल्स स्टोर प्राईवेट लिमिटेड के नाम से 10 बाक्स मे 100 मोबाइल की बुकिंग 29 नवंबर 2021 को की गयी थी।

माल ट्रांसपोर्टेशन व्यवस्थाओं के अनुरूप क्रमशः इंदौर से जबलपुर में अनलोड होकर जबलपुर से फिर रीवा निर्धारित प्वाईट पर पहुंचाया जाना था। एक फरवरी 2021 को जबलपुर स्थित मधुर कोरियर कार्यालय में पार्सल का एक बाक्स कम पाया गया। इस बाक्स में 10 मोबाइल थे। इस शिकायत के बाद पुलिस अधीक्षक ने लार्डगंज पुलिस को गहन पड़ताल के लिए निर्देशित किया था। इसी तारतम्य में गठित टीम ने खोजबीन करते हुए ग्राम बंदरिया कुंडम निवासी दीपक सिंह मरावी को संदेह के आधार पर पकड़ा। दीपक बीई किया हुआ है, जो कि मधुर कोरियर में ही काम करता था। दीपक से जब पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो उसने मोबाइल का बाक्सस चुराना कबूल लिया।

उसकी निशानदेही पर पुलिस ने भी दस मोबाइल बरामद कर लिए हैं। इनकी रही मुख्य भूमिका

पतासाजी करते हुये आरोपी को पकड़ने एवं पूछताछ कर चुराये गये मोबइल बरामद करने में उप निरीक्षक एसएन कुशवाहा, सहायक उप निरीक्षक कुंजबिहारी सिंह, श्याम सुंदर तिवारी, प्रधान आरक्षक संतोष कुशवाहा, आरक्षक- विकास ठाकुर, मानवेन्द्र, विमल, महिला आरक्षक रीना एवं सायबर सेल के आरक्षक अमित पटैल की सराहनीय भूमिका रही।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local