जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जबलपुर में माफिया और आपराधिक तत्वों के अवैध निर्माणों और अतिक्रमणों को ध्वस्त करने की कार्रवाई लगातार की जा रही है। जिला प्रशासन द्वारा माफिया विरोधी अभियान के तहत आज शुक्रवार को पुलिस एवं नगर निगम के सहयोग से गुरन्दी में करीब साढ़े नौ हजार वर्ग फुट भूमि पर अवैध कब्जा कर किए गए निर्माणों को बुल्डोजरों की सहायता से ढहा दिया गया। नगर निगम के स्वामित्व की पार्क के लिये आरक्षित इस भूमि पर अपराधी राजा सोनकर द्वारा कब्जा कर लिया गया था। खसरा नम्बर 5/1 के हिस्से की इस भूमि पर राजा सोनकर द्वारा ऑफिस, सूकर का बाड़ा और दुकान बना ली गई थी।

कलेक्टर डॉ इलैयाराजा टी और पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा के निर्देश पर की गई इस कार्रवाई के दौरान अपर कलेक्टर एवं माफिया विरोधी अभियान के नोडल अधिकारी नमः शिवाय अरजरिया मौके पर मौजूद थे। तहसीलदार रांझी श्याम नन्दन चंदेले के अनुसार राजा सोनकर के अवैध कब्जे से मुक्त कराई गई इस भूमि की क़ीमत लगभग 4 करोड़ 75 लाख है।

11 अपराधिक घटनाओं का आरोपित है कब्जाधारी

उल्लेखनीय है कि ओमती, लार्डगंज और बेलबाग थाना क्षेत्र में हुई 11 आपराधिक घटनाओं के आरोपित भरतीपुर निवासी राजा सोनकर ने ओमती और बेलबाग थाने की सीमा पर वंशकार मोहल्ला में करोड़ों रुपये कीमती शासकीय जमीन पर अवैध कब्जा कर वहां सूकर पालन केंद्र खोल लिया था। सूकर पालन केंद्र से उठने वाली दुर्गंध से नागरिकों को काफी परेशानी हो रही थी। नागरिकों की शिकायत के बाद ओमती पुलिस ने राजा सोनकर को राडार पर लिया। नागरिकों ने पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा से सूकर पालन केंद्र को लेकर शिकायत की थी। पुलिस अधीक्षक ने ओमती थाना प्रभारी एसपीएस बघेल को कार्रवाई के निर्देश दिए थे। ओमती पुलिस ने सूकर पालन केंद्र का जायजा लेने के बाद कार्रवाई के लिए नगर निगम से पत्राचार किया। नगर निगम द्वारा राजा सोनकर को नोटिस जारी किया गया। राजा सोनकर के खिलाफ ओमती में तीन, लार्डगंज में छह और बेलबाग थाने में दो अपराध दर्ज हैं।

गांजा तस्करी में तलाश, जिलाबदर का प्रस्ताव लंबित-

गांजा तस्करी के प्रकरण में जीआरपी राजा सोनकर की तलाश कर रही है। उसके खिलाफ जिलाबदर का प्रस्ताव कलेक्टर कार्यालय में लंबित है। पुलिस ने बताया कि राजा सोनकर का क्षेत्र में आतंक है, जिसके चलते उसके खिलाफ कोई शिकायत नहीं करता।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close