जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि। ‘आपरेशन गुंडे-बदमाश आल आउट कांबिंग गश्त’ में दो हजार से ज्यादा जवानों ने कदमताल करते हुए 288 असामाजिक तत्वों को दबोच लिया। रात करीब एक बजे जिले के सभी थानों से कांबिंग गश्त के लिए जवान व अधिकारी रवाना हुए। सुबह पांच बजे तक थाना क्षेत्रों के संवेदनशील व अन्य इलाकों में पैदल भ्रमण किया। पुलिस की गश्त देखकर तमाम अपराधी तत्व घरों में दुबके रहे अथवा भाग खड़े हुए। घेराबंदी कर पुलिस ने 91 गैरम्यादी वारंट, 182 गिरफ्तारी वारंट तथा 136 जमानती वारंट की तामीली की। गैरम्यादी व गिरफ्तारी वारंटियों को गिरफ्तार कर थाने ले जाया गया। सात असामाजिक तत्वों को चाकू लेकर घूमते हुए पकड़ा गया। आपराधिक प्रकरणों में फरार छह आरोपितों व जिलाबदर आदेश का उल्लंघन करने वाले दो तड़ीपारों को पकड़ा गया। पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा के निर्देश पर आपरेशन गुंडे-बदमाश आल आउट कांबिंग गश्त शुरू की गई। शहरी क्षेत्र में गश्त का नेतृत्व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गोपाल प्रसाद खांडेल, संजय अग्रवाल व प्रदीप शेंडे तथा ग्रामीण अंचल में एएसपी शिवेश सिंह बघेल ने किया। पुलिस अधीक्षक बहुगुणा ने कहा कि अपराधी तत्वों पर नकेल कसने में कांबिंग गश्त की गई। जिसके बेहतर परिणाम सामने आए हैं।

पुलिस की घेराबंदी देख फटी रह गई आंखें-

गश्त से पहले तमाम अपराधी तत्वों को पुलिस ने चिंहित कर लिया था। देर रात पुलिस तत्वों के घर पहुंची। घर का दरवाजा खुलवाया गया। चारों तरफ पुलिस की घेराबंदी देख तत्वों की आंखें फटी रह गईं। उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। इस दौरान सड़कों पर फर्राटा भरते वाहनों को भी रोका गया, जिन्हें तलाशी के बाद छोड़ा गया। इस दौरान पुलिस टीमों ने जिलाबदर के आरोपितों को पकड़ा जिन्हें जिला दंडाधिकारी ने छह माह से एक साल के लिए जबलपुर समेत आसपास के आठ जिलों की राजस्व सीमा से बाहर निकलने का आदेश दिया था।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close