जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। धान-खरीदी का काम शुरू हुए हफ्ता भर से ज्यादा बीत चुका है। लेकिन अब तक जिले में कुल 30 केंद्रों पर ही खरीदी का काम शुरू हो पाया है। कुल 279 किसानों से 3700 मेट्रिक टन धान की खरीदी की जा सकी है।

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग और जिला विपणन संघ की ओर से उपार्जन की तैयारियां पूर्ण होने का दावा किया जा रही है। लेकिन उपार्जन केंद्रों पर किसानों की आवक नाम मात्र के लिए ही हाे रही है। जिले में 114 केंद्र शुरू किए जाने थे, जिनमें से अब तक 100 पर ही तैयारियां पूर्ण हो सकी हैं। इनमें से भी अधिकांश केेंद्रों पर अभी एक भी किसान नहीं पहुंचा है। मंथर गति से चले रहे उपार्जन ने आने वाले दिनों में खरीदी और भंडारण के वक्त अव्यवस्था की आशंका बढ़ा दी है। वहीं प्रशासन का कहना है कि अभी शुरुआत है।

एफपीओ और एसएसजी को भी मौका

इस साल एफपीओ (फार्मर प्रोड्यूसर आर्गेनाइजेशन) के माध्यम से 6 और जिला पंचायत ने एनअारएलएम (स्व सहायता समूह) के माध्यम से 8 केंद्र बनाने की अनुशंसा की थी। कलेक्टर की अनुशंसा से इन केंद्रों के प्रस्ताव राज्य शासन को भेजे भी जा चुके हैं। हालांकि इन केंद्रों को खोले जाने की अनुमति शासन स्तर से प्रतीक्षित है।

इनका कहना है

अभी उपार्जन का शुरूआती दौर है, इसलिए खरीदी केंद्रों पर किसान कम पहुंच रहे हैं। जैसे-जैसे समय बीतेगा खरीदी का काम तेजी पकड़ने लगेगा। अब तक 279 किसानों से 3700 मेट्रिक टन खरीदी हो पाई है। -कमलेश टांडेकर, जिला आपूर्ति अधिकारी

Posted By: Jitendra Richhariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close