जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। पंचायत चुनाव की तिथि जारी होते ही गांव से लेकर शहर तक की राजनीति गर्म हो गई है। जिला निर्वाचन आयोग ने सोमवार से अपनी चुनाव तैयारियों को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया। कलेक्टर ने सोमवार को एक के बाद एक कई आदेश जारी किए।

कलेक्टर ने आचार संहिता लगते ही सभी नए शासकीय आयोजन और नई योजनाओं को लागू करने से रोक लगा दी है। इतना ही नहीं धारा 144 भी लागू कर दी है। वहीं चुनाव तक सभी शस्त्रों के लाइसेंस भी रद्द कर दिए हैं।

इस बार चुनाव में जिला पंचायत और जनपद पंचायत के सदस्यों को अपना नामाकंन ऑनलाइन ही जमा करना होगा, वे किसी भी कियोस्त से नामांकन भर सकते हैं। । पंच और सरपंच को इससे राहत दी गई है। उन्होंने ऑफलाइन नामाकंन भरना है। हालांकि जिला और जनपद पंचायत के उम्मीदवार को यदि ऑनलाइन आवेदन जमा करने में किसी तरह की परेशानी आती है तो वे रिटर्निंग ऑफिस की मदद ले सकते हैं। जिला निर्वाचन ने इसके लिए सभी तहसील कार्यालय में आनलाइन आवेदन जमा करने के लिए कर्मचारियों को तैनात किया है।

जिला निर्वाचन सेल हो रही मजबूत: सोमवार को कलेक्टर ने जिला निर्वाचन आयोग की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने जिला सेल को पुनगर्ठित करने के निर्देश दिए, ताकि सही और समय पर काम और जानकारी मिल सके। जिला पंचायत चुनाव का प्रभार एसडीएम अधारताल नम शिवlय अरजरिया को सौपा गया है ।चुनाव की आचार संहिता लागू होते ही सभी कर्मचारियों के अवकाश पर रोक लगा दी गई है। अब सभी अवकाश कलेक्टर की स्वीकृति से ही जारी होंगे।

प्रथम चरण में होगा पनागर में चुनाव: राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन 2021-22 के लिए घोषित कार्यक्रम के अनुसार मतदान तीन चरण में होगा। प्रथम चरण में 85 विकासखण्डों की ग्राम पंचायतों में मतदान होगा। प्रथम चरण में जबलपुर जिले में जबलपुर जिले के सिहोरा, कुंडम, पनागर, जबलपुर (बरगी) में चुनाव होगा। प्रथम चरण का मतदान 6 जनवरी 2022 को सुबह 7 बजे से अपरान्ह 3 बजे तक होगा। नाम निर्देशन पत्र 13 दिसंबर से 20 दिसंबर तक लिये जाएंगे। नाम निर्देशन पत्रों की संवीक्षा 21 दिसम्बर को होगी। अभ्यर्थिता से नाम वापस लेने के अंतिम तारीख 23 दिसंबर है। निर्वाचन प्रतीकों का आवंटन भी 23 दिसंबर 2021 को होगा।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local