जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। खमरिया क्षेत्र में तेंदुआ देखे जाने की खबर है। इस जसनकारी के बाद से हड़कंप का वातावरण बना हुआ है। आर्डनेंस फैक्ट्री खमरिया प्रबंधन ने तो कर्मचारियों के लिए बकायदा चेतावनी-नोटिस अपने सूचना पटल पर चस्पा कर दिया है। इस नोटिस में कहा गया है कि कर्मचारी अकेले कहीं न जाएं। जहां भी जाएं समूह में रहें, सतर्कता रखें।

तेंदुआ और जबलपुर के बीच आंखमिचौली का खेल वर्षों से चल रहा है। कभी वो डुमना में दिखता है, तो कभी नयागांव में। हाल में एक तेंदुए को आर्डनेंस फैक्ट्री खमरिया के परिसर में देखे जाने की जानकारी मिली है। इस जानकारी की पुष्टि फैक्ट्री के नोटिस बोर्ड पर चस्पा सूचना से हो जाती है। इस सूचना में लिखा गया है कि अुभाग-9 के आस-पास एवं निर्माणी की बाउंड्रीवाल के पास स्थित टावर नं.- नौ, 10, 11 और 12 के नजदीक तेंदुए की मौजूदगी देखी गई है। इसलिए अनुभग-9 के सभी कर्मचारियों को सूचित किया गया है कि वे समूह में रहें। कहीं भी दो या दो से अधिक की संख्या में ही आएं-जाएं। ताकि किसी भी अप्रिय घटना की आशंका को टाला जा सके।

तेंदुआ के अनुकूल है जबलपुर की पारिस्थितिकी

तेंदुआ देखे जाने की सूचनाएं जबलपुर के लिए कौतूहल भरी तो हैं लेकिन नई नहीं हैं। दशकों से यहां तेंदुआ की मौजूदगी के प्रमाण मिलते रहे हैं। कभी कहीं उसके पदचिन्ह मिले तो कहीं वो खुद प्रकट हो गया। नयागांव और डुमना के आस-पास स्थित बसाहटों में तेंदुआ अक्सर लोगों की नजर में आता रहा है। लेकिन वो इतना चालाक है कि वनविभाग के शिकंजे में फंस नहीं पाता। करीब दस साल पहले तो खमरिया में ही पेड़ पर बैठा तेंदुआ लोगों को दिख गया था। वन विभाग की टीम ने उस पेड़ के पास डेरा डाल लिया था, दिन भर तेंदुआ इस डाल से उस डाल पर चढ़ता रहा। इसी बीच रात हो गई। वन-अमला मौके से हटा नहीं डटा रहा, लेकिन सुबह हुई तो पता चला कि तेंदुआ उतर कर कहीं ओझल हो चुका है।

इनका कहना-

सेक्शन-9 के आस-पास बाउंड्री वाल के नजदीक तेंदुआ के देखे जाने की सूचना मिली है। कर्मचारियों को सचेत किया गया है कि वो सावधानी रखें। अनुभाग-9 के परिसर में कहीं भी अकेेले जाने का जोखिम न उठाएं। -दिनेश कुमार, डीजीएम-ओएफके

Posted By: Jitendra Richhariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close