जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर की सड़कों पर निर्माण कार्य के चलते लोगों काे मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है। निर्माण के दौरान नियम-कायदों की परवाह नहीं की जाती, जिससे राहगीरों को दुर्घटना का सामना भी करना पड़ रहा है। मदनमहल चौराहा से गंगासागर की ओर जाने वाली सड़क पर लाकडाउन के पूर्व यानि फरवरी-मार्च में लाइन बिछने का कार्य शुरू हुआ था। निर्माण की कछुआचाल लाकडाउन में थम गई थी, लेकिन अनलाक के बाद भी यहां कार्य कछुआ गति से ही हो रहा है, जिसका खामियाजा आसपास के रहवासी, दुकानदार और यहां से निकलने वाले लोगों का भुगतना पड़ रहा है। करीब आधा किमी की सड़क में वाहन चालकों का वाहन निकलना मुश्किल हो रहा है। पूरी सड़क दलदल में तब्दील हो गई है। जहां से पैदल निकलना मुश्किल हाे रहा है।

स्थानीय नागरिकों के अनुसार शहर के अंदर निर्माण कार्य के यह हाल हैं तो ग्रामीण क्षेत्रों में क्या हो रहा होगा। जिस पर किसी का ध्‍यान नहीं जा रहा है। उन्‍होंने बताया कि मदनमहल क्षेत्र से गुलौआ चौक, संजीवनी नगर, गढ़ा की ओर जाने वालों हजारों लोग रोज निकलते हैं, लेकिन इनकी परेशानी से किसी को काई मतलब नहीं रह गया है।

इसी तरह संजीवनी नगर की ओर से गौतमजी की मडि़या तक सीसी रोड का निर्माण किया जा रहा है। निर्माण एजेंसी द्वारा यहां भी शासन द्वारा निर्धारित मानकों का ध्‍यान नहीं रखा जा रहा है। लोगों के लिए कोई सुविधाजनक रास्‍ता नहीं बनाया गया है। एक ओर की सीसी रोड बनाकर खोल दी गई है, लेकिन उस पर चढ़ने में कई राहगीर गिर रहे हैं। यही हाल गुलौआ चौक रेलवे फाटक के समीप बनने वाली सड़क का है।

Posted By: Ravindra Suhane

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस