जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहीद अशफाक उल्ला खां वार्ड क्रमांक 59 की आधी आबादी पीने के पानी के लिए बरसात में भी पसीना बहाने को मजबूर है। वार्ड की छह से ज्यादा बस्तियों के नागरिकों को पीने के लिए नलों से पर्याप्त पानी नहीं मिल पा रहा है। वार्ड के मोतीनाला, नालबंद मोहल्ला, चारखंभा, मंडी मदार टेकरी, खदनिया सहित अन्य क्षेत्रों में टंकी होने के बावजूद नलों से बमुश्किल 10 से 15 मिनट ही पानी मिल रहा है। इसके बाद लोग खासकर महिलाएं इधर-उधर से बोरिंग का पानी एकत्र करने में जुट जाती हैं।

नागरिकों ने बताया कि वार्ड में पेयजल संकट इस कदर है कि हर सीजन में पानी के लिए परेशान होना पड़ता है। गर्मियों में तो जलसंकट गहराने के कारण मारपीट तक की नौबत आ जाती है। वार्ड की नाले-नालियां भी कचरा, गंदगी से बजबजा रही हैं। मंसूराबाद स्थित नाले की सफाई न होने से वर्षाकाल में जलभराव के हालात बन रहे हैं। वार्ड का विकास नागरिकों की अपेक्षाकृत नहीं हुआ है। अब नागरिकों को वार्ड के नव निर्वाचित पार्षद से उम्मीद है कि वे इन समस्याओं से निजात दिलाएंगे।

शाम होते ही अंधेरे में डूब जाती हैं सड़कें-

वार्ड में कचरा, गंदगी के कारण लोगों को रहना मुश्किल है वहीं छोटी मदार टेकरी, नालबंद मोहल्ले से लगे मोहल्लों में स्ट्रीट लाइट बंद होने से शाम होते ही अंधेरा पसर जाता है। अधिकांश बिजली के खंभों में अब तब स्ट्रीट लाइट नहीं लगाई हैं। वहीं जहां नई एलइडी लाइट लगाई थी वे भी बंद पड़ी हैं। नागरिक अंधेरे में ही उबड़-खाबड़ सड़कों से आवागमन करने विवश हैं। नागरिकों ने कई बार नगर निगम में शिकायत की, लेकिन समस्या का निराकरण आज तक नहीं हुआ।

और भी हैं समस्याएं-

- नालों में इतनी गंदगी है कि वर्षा का पानी भी नहीं निकल पा रहा है। दो इंच वर्षा होने पर मंसूराबाद, मोतीनाला क्षेत्र में घुटने तक पानी भर रहा है।

- रद्दी चौकी, गोहलपुर मुख्य मार्ग पर अतिक्रमण इस कदर है कि यातायात हर दिन बाधित होता है। दुकानदारों ने दुकानें आगे तक बढ़ा ली है।

- वार्ड में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र है, लेकिन उसमें भी प्रसूताओं को समुचित इलाज नहीं मिल पा रहा है। नागरिकों ने सुविधाएं व चिकित्सक बढ़ाने की मांग की है।

- क्षेत्र में सफाई न होने से जगह-जगह कचरे के ढेर लगे हैं। दुकान और घरों से डस्टबिन गायब हो चुकी हैं। नागरिक भी सड़क, नालियों में ही कचरा फेंक रहे हैं।

वार्ड की खासियत-

नगर निगम के जोन क्रमांक 16 के अंतर्गत आने वाले शहीद अशफाक उल्ला खां वार्ड क्रमांक 59 की आबादी करीब 16 हजार है। मतदाता सूची के अनुसार 14 हजार 532 है। इसमें अनुसूचित जाति के 733 और अनुसूचित जनजाति के एक हजार 153 परिवार निवासरत है। वार्ड में ज्यादातर मुस्लिम वर्ग के हैं। वार्ड में एक सरकारी स्कूल व आठ आंगनबाड़ियां हैं।

क्या कहते हैं वार्डवासी

क्षेत्र में पानी की समस्या है। नल 10-15 मिनट ही चलते हैं, इसके बाद बंद हो जाते हैं। पर्याप्त पानी नहीं मिलता ज्यादातर लोग इधर-उधर से बोरिंग से पानी लाने को मजबूर हैं।

-सबीना बानो, स्थानीय नागरिक

नाले-नालियों की सफाई नहीं होती है। ज्यादा पानी गिरने पर नालियां का गंदा पानी सड़कों में भर जाता है। मच्छर भी इतने हैं कि शाम को बाहर बैठना मुश्किल हो जाता है।

-वसीम अंसारी, स्थानीय नागरिक

क्षेत्र में पानी की समस्या तो है ही, स्ट्रीट लाइट ज्यादातर बंद ही रहती है। अंधेरे में आवागमन मुश्किल हो जाता है। सड़कों पर आवारा कुत्तों से भी डर बना रहता है।

-अफसाना बेगम, स्थानीय नागरिक

क्या कहते हैं जिम्मेदार

वार्ड के पानी की समस्या नहीं है। कुछ क्षेत्रों में प्रेशर नहीं बन पा रहा है। इसकी जानकारी लेकर प्रेशर बढ़ाया जाएगा। सफाई व्यवस्था के लिए विभागीय अधिकारियों से चर्चा की जाएगी।

-कमलेश श्रीवास्तव, कार्यपालन यंत्री जल, नगर निगम

वार्ड के कई क्षेत्रों में पेयजल की समस्या है इसके लिए दो टंकियों का निर्माण कराया जाएगा। फिलहाल वर्षा के सीजन को देखते हुए नाले-नालियों की सफाई कराई जा रही है। वार्ड के नागरिकों का मूलभूत सुविधाएं मिले इसके प्रयास किए जा रहे हैं।

वकील अहमद अंसारी, नव निर्वाचित पार्षद

Posted By: tarunendra chauhan

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close