जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। रानी दुर्गावती विवि द्वारा स्नातकोत्तर की परीक्षाओं का आयोजन 27 जनवरी से शुरू हुआ। कोरोना संक्रमण को देखते हुए परीक्षा के लिए केंद्रों की बढ़ी हुई संख्या में परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है। एक केंद्र में 250 से ज्यादा परीक्षार्थियों को नहीं बिठाया गया। पहले दिन सुबह 8 बजे से 11 बजे तक परीक्षाओं का आयोजन किया गया। जिसमें आधुनिक हिंदी काव्य, मार्डन थ्योरी आफ इंडिया 1858-1975, इंडियन गवर्नमेंट एंड पालिटिक्स जैसे विषयों पर आधारित पहले दिन परीक्षा ली गई। परीक्षा केंद्रों की संख्या को बढ़ाने से सरकारी, अनुदान प्राप्त कालेजों के अलावा निजी कालेजों को भी परीक्षा केंद्र बनाया गया। बीते कई सालों से विश्वविद्याल द्वारा निजी कालेजों को परीक्षा केंद्र बनाने से परहेज किया जाता रहा है। लेकिन कोरोना के कारण इस बार ये परिवर्तन किया गया।

संभाग के जबलपुर सहित सात जिलों में स्नातकोत्तर के लिए रानी दुर्गावती विवि ने 24 परीक्षा केंद्र बनाए हैं। स्न्नातकोत्तर प्रथम और तृतीय वर्ष के लिए परीक्षाएं शुरू हुई हैं। एमएससी और एमए के करीब ढाई हजार परीक्षार्थी संभाग में है जिनके लिए यह परीक्षा आयोजित की जा रही हे। इनके अलावा एलएलबी, बीएड के परीक्षाओं के लिए अलग परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। परीक्षा में करीब 15 हजार परीक्षार्थियों के शामिल हो रहे हैं। परीक्षा नियंत्रक प्रो.एनसी पेंड्से ने बताया कि कोरोना काल में पूरी सावधानी के साथ परीक्षा का आयोजन का आयोजन किया जा रहा है। सभी केद्रों में कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए परीक्षा ली जा रही है। मास्क और सेनिटाइजेशन का ध्यान रखा गया है। 27 के बाद दूसरा पेपर 29 जनवरी को होगा। परीक्षाएं 10 फरवरी तक संचालित की जाएंगी।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local