जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। रेलवे में कार्यरत प्रायवेट ठेका मजदूरों को उनका भविष्य निधि का पूरा पैसा समय पर दिया जाएगा, इसके साथ ही उनके खाते में प्रतिमाह जमा होने वाली भविष्य निधि की राशि की सूचना उन्हें पृथक रूप से देने की व्यवस्था की जा रही है, जिससे कि इन कामगारों का शोषण ठेकेदारों द्वारा ना हो सके। यह निर्णय मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय में आयोजित कर्मचारी भविष्य निधि के अधिकारियों तथा मंडल के रेल अधिकारियों के साथ हुई बैठक में लिया गया।

डीआरएम कार्यालय में आयोजित इस बैठक में सहायक आयुक्त कर्मचारी भविष्य निधि शुभम कुमार के साथ डीआरएम संजय विश्वास तथा मंडल के शाखा अधिकारी अभिराम खरे, मनीष पटेल, नवनीत राज, अभिषेक मिश्रा, देवेश सोनी, आरके हल्दिया, संजीव जैन सहित रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि रेलवे के विभिन्न्ा विभागों में ठेकेदार द्वारा मजदूरों से कार्य कराया जाता है। इसके एवज में रेलवे द्वारा ठेकेदार को सभी प्रकार का भुगतान किया जाता है, लेकिन अक्सर यह शिकायत आती है कि मजदूरों के खाते में ठेकेदार द्वारा समय पर भविष्य निधि की राशि जमा नहीं की जाती है और ना ही कार्यरत मजदूरों को उनके भविष्य निधि की राशि की जानकारी मिल पाते हैं।

अधिकारियों ने निर्णय लिया कि अब ऐसा सिस्टम तैयार किया जाएगा कि प्रत्येक कामगार को उसके भविष्य निधि का बैलेंस हर माह प्राप्त होता रहेगा, जिससे कि उनके शोषण को रोका जा सके। इस अवसर पर मजदूरों के हक के लिए विभिन्न मुद्दों पर भी चर्चा की गई। इससे कर्मचारियों को काफी हद तक राहत मिलेगी।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local