जबलपुर,नईदुनिया प्रतिनिधि। शासकीय कला महाविद्यालय पनागर में तीन दिवसीय राखी निर्माण कार्यशाला का समापन एवं श्रावणी उद्यमिता शिविर का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए मुख्य अतिथि स्वामी विवेकानंद करियर मार्गदर्शन के संभागीय समन्वयक प्रो.अरुण शुक्ल ने राखी कार्यशाला में विद्यार्थियों द्वारा बनाई कलात्मक राखी की प्रशंसा करते हुए कहा कि विद्यार्थी निरंतरता और लगन से उद्यमिता के शीर्ष पर पहुंचे हैं। यह स्वरोजगार की दिशा में महत्वपूर्ण कदम है।

प्रो. शुक्ल ने महाविद्यालय की बीए प्रथम वर्श की छात्रा अनामिका रैदास को 400 राखी बनाकर 6000 रुपये कमाने पर प्रशस्ति पत्र दिया। प्रो.शुक्ल ने मनोबल बढ़ाते हुये कहा कि तरक्की की कोई सीमा नही होती, लगन के साथ विद्यार्थी आगे बढ़े, स्वंय रोजगार प्राप्त करते हुए दूसरों को रोजगार प्रदान करने में सहायक बने। इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राचार्य डा. प्रफुल्ल जैन ने आत्म निर्भरता की राह पर चलने वाले विद्यार्थियों का मनोबल बढ़ाया। राखी निर्माण कार्यशाला की प्रशिक्षक शिया जैन को भी बधाई दी।

कार्यक्रम के दूसरे चरण में आयोजित श्रावणी उद्यमिता शिविर का अवलोकन किया गया। महाविद्यालय के छात्र और भूतपूर्व छात्रों द्वारा हस्त निर्मित राखी ,मेहंदी, पूजन वस्त्र, पापर्कान आदि के कुल 13 स्टाल लगाए गए। स्वयं के प्रयासों से लगाए स्टाल के माध्यम से हस्त निर्मित वस्तुओं की बिक्री पर विद्यार्थियों में उत्साह देखने को मिला।

महाविद्यालय के प्राचार्य डा प्रफुल्ल जैन के कुशल मार्गदर्शन व स्वामी विवेकानंद करियर मार्गदर्शन योजना प्रभारी डा. मोनिका मसीह एवं महाविद्यालय सभी प्राध्यापकों, कर्मचारियों का सहयोग रहा।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close