जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मध्य प्रदेश राज्य सूचना आयोग ने नर्सिंग काउंसिल को निर्देश दिए हैं कि अपीलार्थी अधिवक्ता विशाल बघेल को नर्सिंग कालेजों की मान्यता से जुड़े सभी रिकार्ड मुहैया कराएं। आयोग ने इसके लिए काउंसिल को एक माह की मोहलत दी है।

ला स्टूडेंट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष विशाल बघेल ने अवगत कराया कि उनके द्वारा सितम्बर, 2021 में नर्सिंग काउंसिल में एक आरटीआई लगाकर मध्य प्रदेश में खुले सभी नर्सिंग कालेजों द्वारा वर्ष 2020-21 की मान्यता के लिए प्रस्तुत आवेदन और अन्य अभिलेख मांगे थे। काउंसिल द्वारा जानकारी नहीं देने पर संचालक चिकित्सा शिक्षा, मध्य प्रदेश के समक्ष प्रथम अपील प्रस्तुत की गयी थी। जानकारी प्रदान करने के आदेश के बावजूद रजिस्ट्रार नर्सिंग काउंसिल ने रिकार्ड नहीं दिए। इसके बाद आयोग में सेकेंड अपील पेश की गई। आयोग ने उक्त दस्तावेज उपलब्ध कराने के साथ-साथ मप्र नर्सिंग काउंसिल की रजिस्ट्रार सुनीता सीजू के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

जस्टिस कौरव का सम्मान :

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट से दिल्ली हाई कोर्ट स्थानांतरित हुए जस्टिस पुरुषेंद्र कुमार काैरव का हाई कोर्ट एडवोकेट्स बार एसोसिएशन के सभागार में सम्मान हुआ।इस दौरान अध्यक्ष वरिष्ठ अधिवक्ता मनोज शर्मा ने स्वागत किया। सचिव अतिरिक्त महाधिवक्ता हरप्रीत रूपराह ने सम्मान समारोह का संचालन किया। अन्य सभी पदाधिकारी मौजूद रहे। वक्ताओं ने जस्टिस कौरव से जुड़े संस्मरण साझा किए। जस्टिस कौरव ने भरोसा दिलाया कि वे जबलपुर के वकीलों को सदैव स्मरण रखेंगे।

इधर दूसरी तरफ अधिवक्ता परिषद मध्य प्रदेश की जिला न्यायालय इकाई जबलपुर द्वारा भी एक सादे समारोह में जस्टिस पुरूषेंद्र कौरव का पुष्पगुच्छ से स्वागत सम्मान किया गया। इस दौरान मध्य प्रदेश महाकौशल प्रांत के न्याय केंद्र सह प्रभारी सत्यपाल चढ़ार, जिला सचिव सुनील कुमार गुप्ता, जिला मंत्री राममिलन प्रजापति, न्याय केंद्र प्रभारी जितेंद्र बैंन, स्टडी सर्किल प्रमुख नितिन कुशवाहा, जिला मीडिया प्रभारी सीमा साहू, सदस्य भुवनेश्वर सिंह व ठाकुर प्रशांत बडोनिया सहित अन्य ने स्वागत किया।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close