जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। पश्चिम मध्य रेल में ओएचई रखरखाव के समय और निरीक्षण के लिए टावर वैगन की उपयोगिता महत्वपूर्ण है। इसका उपयोग नियमित रूप से किया जाता है। टावर वैगन की विश्वसनीयता और उपलब्धता सुनिश्चित कर उचित रखरखाव बहुत आवश्यक है।

पमरे के जबलपुर मंडल में शत प्रतिशत विद्युतीकरण हो चुका है। विद्युतीकृत खंड के रखरखाव के लिए अलग-अलग मुख्य स्टेशनों पर मैंटेनेंस डिपो है। इन डिपो में टावर वैगन उपलब्ध हैं। पमरे के जबलपुर मण्डल में पहले से ही तीन नए टावर वैगन ब्यौहारी, मझगवां और सराईग्राम में है। इसके साथ ही एक और टावर वेगन कटनी मुड़वारा स्टेशन पर लगाया गया। जिसके होने से मुख्य सेक्शन कटनी मुड़वारा बीना रेल खंड और कटनी, न्यू कटनी जंक्शन क्षेत्र पर ओएचई लाइन के रखरखाव में कम समय लगेगा। साथ ही सेक्शन में ओएचई स्टाफ को घटना स्थल पर पहुंचने में तीव्रता एवं सुगमता मिलेगी। टावर वैगन एक सेल्फ प्रोपेल्ड व्हीकल है और इसकी अधिकतम गति 100 किमी है। विद्युतीकृत खंड में दुर्घटना के समय तथा ओएचई के रखरखाव में टावर वैगन की अहम भूमिका है। ओएचई के नियमित निरीक्षण क्षतिग्रस्त ओएचई को सही करने और छोटी लंबाई के केटेनरी और कांटेक्ट वायर बिछाने के कार्य में इसका उपयोग किया जाता है।

दोनों सिरों पर ड्राइविंग केबिन : उल्लेखनीय है कि टावर वैगन एक महत्वपूर्ण वाहन है, जिसमें 8 व्हीलर डीजल इलेक्ट्रिक टॉवर कार डीईटीसी 4 एक्सल दोनों दिशाओं वाला और दोनों सिरों पर ड्राइविंग केबिन है। जिसका उपयोग समय-समय पर निरीक्षण गश्त और रखरखाव के लिए है। इस टावर वैगन कार का मुख्य कार्य ओवर हेड उपकरणों पर कर्षण तार का रखरखाव करना सभी ओएचई पैरामीटर के मेजरमेंट खराब उपकरणों पर ध्यान देना क्षतिग्रस्त ओएचई की बहाली पुनर्स्थापन उपकरण आदि को ठीक करना है। इसके अलावा इसका उपयोग मास्ट को स्थापित करने में केटेनरी एवं कांटेक्ट तार को लगाने के लिए भी किया जाता है। टावर वैगन कार के द्वारा चालू लाइन में भी निरीक्षण किया जा सकता है।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local