जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कोरोना काल में परिस्थितियां विषम थी, लेकिन कार्य करके उन परिस्थितियों को बदलना जरूरी था। जिसके बाद इस विषम समय में भी अवसर की तलाश की और पमरे ने कई उपलिब्धयां हासिल की। यह जानकारी बुधवार को आयोजित पत्रकारवार्ता में रेल महाप्रबंधक शैलेन्द्र कुमार सिंह ने दी। श्री सिंह ने कहा कि इस कार्यकाल में कई कार्य किए गए, इन कार्य के अच्छे प्रदर्शन से पमरे पहले स्थान पर आ गया। इस अवसर पर मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राहुल जयपुरियार ने बताया कि कोरोना कल में इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट आपरेशन में बढ़ोत्तरी, रेलवे की आय में इजाफा, यात्री और रेल कर्मचारियों की सुविधाएं जैसे कई अन्य कार्य किए गए।

यह रही उपलिब्धयां :

- छह नई मेमू ट्रेनों की शुरूआत सतना-कटनी, कटनी-इटारसी, कटनी-बीना, बीना-भोपाल, सतना-मानिकपुर और कटनी-बरगवां।

- तीन आक्सीजन जनरेटिंग प्लांट्स जबलपुर, भोपाल और कोटा स्थापित कर पमरे भारतीय रेल में पहला जोन बना।

- भारतीय रेल पर पहला न्यू माडिफाइड गुड्स हाई स्पीड रेक को सीआरडब्लूएस भोपाल द्वारा विकसित किया गया।

- मध्यप्रदेश का पहला आटोमेटिक कोच वाशिंग प्लांट को पमरे के हबीबगंज में स्थापित किया गया।

- पश्चिम मध्य रेल में पहला आनलाइन मानिटरिंग सिस्टम कटनी-सिंगरौली रेलखण्ड पर स्थापित किया।

- पमरे भारतीय रेल पर फ्रेट स्पीड में प्रथम स्थान हासिल किए हुए हैं।

- पमरे के सीआरडब्ल्यूएस भोपाल कारखाने ने लक्ष्य से 55 प्रतिशत से अधिक कोचों और डब्ल्यूआरएस कोटा कारखाने ने लक्ष्य से 25 प्रतिशत अधिक वैगनों का उच्चतम पीओएच आउटटर्न दिया।

- पमरे ने वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी के कोच का 178 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रायल किया।

- पमरे ने 94 किमी का दोहरीकर तिहरीकरण किया

- पमरे ने आन लाइन फ्रेट पेमेंट सिस्टम के अंतर्गत 1200 ट्रांजेक्शन से रिकार्ड रुपये 238 करोड़ का राजस्व प्राप्त किया।

23 प्रमुख स्टेशनों पर लगे 700 सीसीटीवी कैमरे : यात्रियों की सुविधा के लिए पमरे ने 272 स्टेशनों पर वाई-फाई और एयरपोर्ट की तरह लाइटिंग सुविधा दी। सभी प्रमुख स्टेशनों पर डिजिटल सूचना प्रणाली स्थापित किया गया है। जिसमें 32 स्टेशनों पर कोच गाइडेन्स सिस्टम, 43 स्टेशनों पर ट्रेन सूचना बोर्ड, 84 स्टेशनों पर जीपीएस क्लाक, 34 स्टेशनों पर ट्रेन एट ए ग्लान्स बोर्ड स्थापित करके यात्रियों को सुविधा उपलब्ध कराई गई है। इसके साथ ही पमरे ने यात्री सुविधाओं के लिए टिकटिंग, केटरिंग और सुरक्षा में भी बढ़ोतरी हुई है। जिसमें 66 स्टेशनों पर 123 एटीवीएम से टिकटिंग, 11 प्रमुख एवं 468 छोटे स्टेशनों पर केटरिंग और 23 प्रमुख स्टेशनों पर 700 सीसीटीवी कैमरा उपलब्ध है। शत प्रतिशत स्टेशनों पर दिव्यांगों के लिए टायलेट रेम्प एवं सुनिश्चित पार्किंग व्यवस्था उपलब्ध कराई गई है। कई प्रमुख स्टेशनों पर यात्री सुविधाओं में लिफ्ट, एस्केलेटर एवं फुटओवर ब्रिज में भी बढ़ोत्तरी की गई है। पत्रकारवार्ता में मुख्यालय के अपर महाप्रबंधक शोभन चौधरी, प्रमुख मुख्य परिचालन प्रबंधक राजेश पाठक, प्रमुख मुख्य अभियंता एके पाण्डेय, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी निर्माण वीके अग्रवाल, प्रमुख मुख्य सुरक्षा आयुक्त पीके गुप्ता और मुख्य वाणिज्य प्रबंधक यात्री सेवा बृजेन्द्र कुमार की शामिल हुए। प्रेस वार्ता का संचालन कर रहे वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी आइए सिद्दीकी ने सभी का आभार व्यक्त किया।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local