जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। रायपुर से जबलपुर की यात्रा कर रहे यात्री अपना लेपटाप सीट पर ही भूल गया, जब आरपीएफ को इसकी जानकारी मिली, तो उन्होंने पीएनआर नंबर से उस यात्री का नाम, पते की जानकारी ली और उससे संपर्क कर लेपटाप उसे सुपुर्द किया। यात्री ने आरपीएफ की इस कार्रवाई की सराहना की है। आरपीएफ कमांडेट अरुण त्रिपाठी ने बताया कि 24 सितम्बर को एमएस सेल जबलपुर से आरक्षक राजेन्द्र कुमार ने आरपीएफ नरसिंहपुर को सूचना दी कि ट्रेन क्रमांक 02853 में पीएनआर नंबर पर रायपुर से जबलपुर की यात्रा कर रहे मेडिकल कालेज के पास निवासी राकेश कुमार 30 वर्ष अपना कीमती लेपटाप कोच नंबर बी 3 की बर्थ नंबर 35 पर भूल गए हैं। यात्री राकेश कुमार जबलपुर स्टेशन में उतर गए। सूचना पर नरसिंहपुर स्टेशन में ड्यूटी कर रहे आरक्षक विनायकराव दरबाई को सूचना दी गई। जैसे ही ट्रेन नरसिंहपुर पहुंची, तभी आरक्षक विनायक राव उस कोच में जाकर बर्थ पर पहुंचे, जहां लेपटाप रखा मिला। बर्थ के आसपास बैठे यात्रियों से पूछताछ की, जिन्होंने बताया कि यह लेपटाप उस यात्री का है, जो यहां बैठा और वह इसे सीट पर भी भूल गया। जिसके बाद लेपटाप को अपने कब्जे में लेकर आरक्षक ने लेपटाप को नरसिंहपुर प्रभारी को दिया। जिसके बाद यात्री राकेश को फोन पर सूचना देकर नरसिंहपुर से अपना लेपटाप ले जाने के लिए कहा।

यात्री को सौंपा लेपटाप : यात्री राकेश सूचना मिलते ही नरसिंहपुर पहुंचा और आरपीएफ में संपर्क किया। जिसके बाद उसका पीएनआर नंबर के बारे में जांच की और गवाहों के सामने उसे उसका लेपटाप सौंपा गया। बताया जा रहा है कि लेपटाप की कीमत लगभग सवा दो लाख रुपये है।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local