जबलपुर (नईदुनिया रिपोर्टर)। शहर की साहित्यिक संस्था सृजन पथ द्वारा अंतरराष्ट्रीय मातृ दिवस पर आनलाइन काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। हर किसी ने मां को अलग-अलग शब्दों में बयां किया। मां का वर्णन बड़ी ही खूबसूरती के साथ किया गया। जिसे सभी ने सराहा। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे वरिष्ठ कवि रामेश्वर शर्मा रामू भैया (राजस्थान कोटा), मुख्य अतिथि डॉ रसिक किशोर नीरज ( रायबरेली उत्तर प्रदेश ) एवं समीक्षक अतिथि वरिष्ठ कवि बसंत शर्मा की उपस्थिति में किया गया। गोष्ठि में संस्था संरक्षक आचार्य कृष्ण कांत चतुर्वेदी द्वारा आशीर्वचन प्रस्तुत किए गए।

श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर खूब वाहवाही लूटी: गोष्ठी की संयोजना दीपक तिवारी पक एवं डॉ रानू रुही, के संचालन में स्वागत भाषण डॉ आशारानी, एवं मां सरस्वती की वंदना अर्चना गोस्वामी की मधुर वाणी से कार्यक्रम की शुरूआत की गई। गोष्ठी मे वरिष्ठ साहित्यकारों में डॉ श्याम मनोहर सिरोठिया, सागर विजय बागरी कटनी, अनीता श्रीवास्तव तमन्ना , डॉ विजेंद्र उपाध्याय, मिथिलेश बडगैया, राजेंद्र मिश्रा ,डॉ विनीता पांडे, प्रेम नारायण सोनी प्रेम , मिथिलेश बडगैंया, डॉ.विनीता पांडे, राजेंद्र तिवारी, बसंत मिश्रा आलू चमन,डॉ. पूनम शर्मा, प्रकाश शर्मा, गाडरवारा दीपेश दवे ने मां की रचनाओं से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर खूब वाहवाही लूटी ।

मां को अलग-अलग शब्दों में बयां किया: मां अपने आप में एक खूबसूरत रचना है। हर किसी ने मां को अलग-अलग शब्दों में बयां किया। मां का वर्णन बड़ी ही खूबसूरती के साथ किया गया। जिसे सभी ने सराहा। कवियों द्वारा प्रस्तुत काव्य रचनाएं हर किसी के दिल को छू गईं। मातृत्व दिस के मौके पर इस वैश्विक महामारी के दौरान इसे एक अलग अंदाज में मनाया गया। जिसमें सभी कवि आनलाइन के माध्यम से जुड़े और अपनी खूबसूरत रचनाओं को सुनाया। आभार प्रदर्शन शशि सिंह परिहार द्वारा किया गया।

Posted By: Sunil Dahiya

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags