जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। स्मार्ट सिटी और नगर निगम द्वारा शहर में प्रस्तावित सड़कों का निर्माण कार्य हर हाल में 25 जनवरी से शुरू किया जाए। ये निर्देश लोककर्म विभाग की समीक्षा बैठक में निगमायुक्त आशीष वशिष्ठ ने दिए है। उन्होंने ठेकेदारों से कहा है कि वे अपने मशीनरी व मानव संसाधनों को लगाकर सड़क निर्माण कार्य प्रारंभ कर दें। शहर विकास से जुड़े कार्य में लापरवाही कतई बर्दाश्‍त नहीं की जाएगी।

उन्होंने लोककर्म विभाग के अधिकारियों से कहा कि शहर की सभी निर्माणाधीन प्रमुख सड़कों के साथ-साथ अन्य निर्माण कार्यो को भी प्रारंभ कराएं और उनमें गति लाए। बैठक के दौरान निगमायुक्त के समक्ष ठेकेदारों ने देयक भुगतान न होने की बात कही। जिस पर निगमायुक्त ने ठेकेदारों की समस्याओं का शीघ्र समाधान करने का भरोसा दिलाते हुए अधिकारियों को इस संबंध में कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा है कि भुगतान के अभाव में निर्माण कार्यों को रोका जाना न्याय संगत नहीं है अतः सभी ठेकेदार स्वीकृत कार्यों को जल्द से जल्द प्रारंभ करते हुए अपना कार्य करें। बैठक में अपर आयुक्त वित्त महेश कुमार कोरी, कार्यपालन यंत्री आरके गुप्ता, विजय वर्मा के साथ-साथ सभी सहायक यंत्री, उपयंत्री एवं ठेकेदार उपस्थित रहे। विदित हो कि शहर में करीब नौ सड़कें बनाना प्रस्तावित है। जिनका निर्माण निविदा होने के दो वर्ष बाद भी शुरू नहीं हुआ है।

दो वर्षों से नहीं हुई मरम्मत : विदित हो कि पैसों की कमी से शहर में पिछले दो वर्षों से ठप सड़क निर्माण व मरम्मत कार्य नहीं हुआ है। वर्तमान में शहर की अधिकांश सड़कें जर्जर हो गई है। कोरोना काल में आर्थिक तंगी का हवाला देकर नगर निगम ठेकेदारों को भुगतान नहीं कर रहा था। जिसके कारण दो वर्षों से सड़कों की मरम्मत तक नहीं कराई गई है। अब यदि निगमायुक्त के निर्देश पर अमल हुआ तो नागरिकों को घमापुर से रद्दी चाैकी, कटंगा से ग्वारीघाट, मेडिकल से तिलवारा सहित अन्य प्रमुख सड़कों के गड्ढे से मुक्ति मिल जाएगी। अगले दो माह के भीतर करीब आठ कराेड़ रुपये खर्च कर इन सड़कों की टायरिंग कर दी जाएगी।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local