जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर के महर्षि महेश योगी वार्ड की दुर्दशा से स्थानीय नागरिक परेशान हैं। वार्ड में नए मोहल्ला, कालोनियों ने तेजी से आकार तो लिया पर आबादी के हिसाब से नागरिकों को मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराने के लिए न तो वार्ड पार्षद ने प्रयास किए और न ही नगर निगम प्रशासन ने। जयप्रकाश नगर, आदर्श नगर, पुष्पक नगर सहित अन्य कालोनी व मोहल्लों में जरा सी बौछारें पड़ने पर सड़कें कीचड़ से इस कदर सन जाती हैं कि इन सड़कों से पैदल चलना तो दूर वाहनों से निकलना तक दूभर हो जाता है। नाली-नालियों की सफाई हुए अरसा हो गया। कचरा, गंदगी से नालियां चोक हो गई हैं जिससे वर्षा जल की निकासी नहीं हो पा रही है। नाले-नालियों के कारण कुछ जगह जलभराव की स्थिति उत्पन्ना होने लगी है। बदहाली में रह रहे मोहल्ला व कालोनी वासियों को नए वार्ड पार्षद से उम्मीद है कि शायद उनके कार्यकाल में ही वार्ड के हालात सुधर जाएं।

सड़कों पर गड्ढे, कहां चलें लोग-

वार्ड के अधिकांश क्षेत्रों की सड़कें जर्जर हो चुकी हैं। जिससे वाहन सहित नागरिकों के अस्थि-पंजर ढीले हो रहे हैं। नागरिकों का कहना है सड़क में हर चार गदम पर गड्ढे हैं। लोग गड्ढों में सड़क ढूंढकर चल रहे हैं। वर्षाकाल में तो मुसीबत और बढ़ गई है।

और भी हैं समस्याएं-

- रामेश्वर पैलेस के पास से निकला नाला क्षतिग्रस्त हो गया है जिसके कारण वर्षाकाल में नाला में उफान आने से जलप्लावन की संभावना बढ़ जाती है।

- उमानगर सहित अन्य मार्गों में बिछाई सीवर लाइन नागरिकों के लिए परेशानी का कारण बनी हुई है। सीवर लाइन बिछाने के बाद सड़कों की जहां ढंग से मरम्मत नहीं कराई गई है वहीं चैंबर भी सड़क से ऊपर बना दिए गए हैं।

- वार्ड के कई हिस्सों में नर्मदा जल नहीं पहुंचा है। नागरिक बोर का पानी पीने विवश हैं। गर्मियों में जलसंकट भी गहरा जाता है।

- मुख्य सड़कों से लेकर गली, मोहल्ला, कालोनियों में बेसहारा मवेशी व सांडों की संख्या बढ़ गई है। नगर निगम की हांका गैंग भी इन्हें पकड़ने नहीं आती।

वार्ड की खासियत-

नगर निगम के जोन क्रमांक सात अधारताल के अंतर्गत आने वाले महर्षि महेश योगी वार्ड क्रमांक 57 में तेजी से नई कालोनियां विकसित हुई हैं। वार्ड की जनसंख्या 15 हजार से अधिक है। मतदाता सूची के अनुसार 13 हजार 990 है। इसमें अनुसूचित जाति के 483 और अनुसूचित जनजाति के 360 परिवार शामिल हैं। वार्ड में एक सरकारी स्कूल और दो आंगनबाड़ियां हैं। वार्ड के पुष्पक नगर स्थित सांई मंदिर, आलोक नगर स्थित दुर्गा मंदिर धार्मिक आस्था का प्रमुख केंद्र है।

क्या कहते हैं नागरिक

- जरा सी वर्षा में सड़कों में कीचड़ हो जाता है। नाले-नालियों की सफाई न होने से वर्षा का पानी निकल नहीं पाता सड़कों में भी भरा रहता है। कीचड़ के कारण आना जाना मुश्किल हो गया है।

-रामप्रकाश बर्मन, स्थानीय नागरिक

वार्ड की अधिकांश सड़कें खराब हो चुकी हैं। गड्ढें भरी सड़कों पर चलना मुश्किल हो गया है। स्ट्रीट लाइट भी कभी जलती तो कभी बंद रहती है।

-सुनीता रावत, स्थानीय नागरिक

क्या कहते हैं जिम्मेदार

वर्षा के कारण सड़कों की मरम्मत नहीं कराई जा सकती, हालांकि गड्ढे भरने का काम किया जा रहा है। वार्ड की अन्य समस्याओं को निराकरण कराने मुख्य स्वच्छता निरीक्षक को आदेशित किया जाएगा।

-आलोक शुक्ला, अधारताल, जोन अधिकारी, नगर निगम

वार्ड की सड़कों के गड्ढे भरवाए जा रहे हैं, पर वर्षा के कारण कार्य प्रभावित हो रहा है। कुछ जगह जलभराव की समस्या है। इसका प्राथमिकता से निराकरण कराया जाएगा। वार्ड में नागरिकों को मूलभूत सुविधाएं मिलें और वार्ड का समुचित विकास हो इसके लिए हर संभव प्रयास किए जाएंगे।

-अंजना अग्रहरि, नव निर्वाचित पार्षद

Posted By: tarunendra chauhan

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close