जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। पश्चिम मध्य रेल के जबलपुर मंडल में बिना अनुमति के ई टिकट बनाकर दलाली करने वाले आरोपित दलालों पर आरपीएफ ने कार्रवाई की है। दलालों के पास से 87 ई-टिकट मिली, जिसे जब्त कर आरोपित दलालों से पूछताछ की जा रही है। पश्चिम मध्य रेल के आरपीएफ कमांडेंट अरुण कुमार त्रिपाठी ने रेल सुरक्षा बल की टीम के कार्य की सराहना की।

वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त ने अनाधिकृत रूप से रेल टिकट बनाने वालों पर सख्त कार्रवाई करने निर्देश दिए थे। जिसपर रेल सुरक्षा बल ने छापा मारकर कार्रवाई की। बताया जा रहा है कि आरपीएफ उपनिरीक्षक प्रदीप कुमार, सहायक उप निरीक्षक मुकेश खरे, प्रधान आरक्षक ललित मोहन शर्मा और आरक्षक वीएस यादव को सूचना मिली कि मां नर्मदा कम्प्यूटर एंड फोटोकॉपी बरमान घाट रोड, करेली, नरसिंपुर की दुकान में बिना अनुमति के ई-टिकट बनाई जा रही है।

सूचना पर टीम ने मौके पर पहुंचकर दबिश दी, दबिश के दौरान दुकान संचालक प्रवीण पटेल को पकड़ा, जो रेलवे अधिकृत एजेंट के अनुमति के बीना ई-टिकट के माध्यम से आरक्षित टिकट को बना रहा था। आरोपित की दुकान की जांच की गई, जिसमें कुल 66 ई- टिकट लगभग 23 हजार 430 रुपये की मिली। टीम ने टिकट, सीपीयू, एक मोबाइल को जब्त किया है। वहीं आरोपित पर रेल अधिनियम की धारा 143 के तहत कार्रवाई की गई।

दूसरा मामला: वहीं एक अन्य मामले में आरपीएफ ने पाटन क्षेत्र में िस्थति एक मोबाइल दुकान और ऑनलाइन सेंटर में दबिश देकर ई-टिकट बनाने वालों पर कार्रवाई की। बताया जा रहा है कि उप निरीक्षक बीपी मेहरा, प्रधान आरक्षक शिवचरण शर्मा, प्रधान आरक्षक फूल चंद पटेल, आरक्षक अमित सिंह और आरक्षक ओमनारायण सिंह को सूचना मिली कि पाटन क्षेत्र में िस्थत पटेल मोबाइल शॉप और अंशिका ऑनलाइन सेंटर पर पर्सनल यूजर आइडी से टिकट बनाकर ई टिकट बनाने का व्यापार कर रहे है। सूचना पर टीम मौके पर पहुंची और आरोपित दुकान संचालक अंशुल पटेल और भूपेंद्र अहिरवार मिले, दोनों आरोपितों के पास से 21 रेलवे ई-टिकट लगभग 13 हजार 671 रुपये और सीपीयू के साथ गिरफ्तार किया।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local