जबलपुर, नईदुनियां प्रतिनिधि। रांझी थाना क्षेत्र के मस्ताना चौक के पास गली में नौ वर्षीय बालक के साथ बेरहमी से मारपीट करने वाले एसएएफ के आरक्षक अशोक थापा सहित अन्य के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर ली गई है। रांझी पुलिस ने यह कार्रवाई पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा के निर्देश पर की है। इसकी रिपोर्ट एसएएफ कमांडेंट को भी भेजी जा रही है, जिससे आरक्षक के खिलाफ विभागीय कार्यवाही भी की जा सके।

रांझी पुलिस ने बताया कि सीसीटीवी में जो घटना कैद हुई, उसके अनुसार 12 अगस्त को दोपहर 12 बजकर 47 मिनट पर बच्चा दौड़ते हुए एक गली में पहुंचता है। जहां पीछे से नीले रंग की टीशर्ट पहने मोपेड सवार युवक उसे नाली के पास दबोच लेता है। तभी वहां बाइक से बनियान पहने दूसरा व्यक्ति पहुंचता है, इसी दौरान मोपेड पर हरे रंग की टीशर्ट पहने तीसरा युवक भी पहुंच जाता है, जिसके बाद बनियान पहना व्यक्ति लातों से मासूम को मारता है और हरे रंग की टीशर्ट वाला युवक उसे घूंसे मारते हुए उठाकर जमीन पर पटक देता है। तभी वहां से निकल रहा एक दूधवाला युवक बीच-बचाव कर बच्चे को बचाने की कोशिश करता है, जिसे हरे रंग की टीशर्ट पहना युवक धक्का देकर दूर कर देता है। इसके बाद हरे रंग की टी शर्ट वाला युवक बच्चे को जबरदस्ती अपनी मोपेड में बैठाकर वहां से ले जाता है। वीडियो प्रसारित होने पर पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा ने तत्काल रांझी टीआइ को कार्रवाई के निर्देश दिए।

जांच में यह हुआ खुलासा-

मामले की जांच में पाया गया कि बालक छटवीं वाहिनी आवासीय परिसर से एक छोटी साइकिल चुराकर ले जा रहा था। स्‍वजनों को सूचित किए जाने पर पीछा कर छटवीं वाहिनी विशेष सशस्त्र बल रांझी में पदस्थ आरक्षक अशोक थापा ने बालक को मस्ताना चौक के पास गली में पकड़ लिया और बालक के साथ मारपीट कर दी थी। आरक्षक अशोक थापा के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है। अशोक के साथ अन्य दो लोगों की भी पतासाजी की जा रही है।

Posted By: tarunendra chauhan

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close