जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। ठंड का मौसम स्वास्थ्य के लिहाज से सबसे उपयुक्त माना जाता है। इस मौसम में मानव स्वास्थ्य के साथ ही साग-सब्जियों की भी बहार रहती है। इस मौसम में भी बाजार सभी सीजनल सब्जियों से चहक रहे हैं। आमतौर पर सब्जियों के दाम बहुत ज्यादा नहीं हैं। लेकिन मुनगा, मुरार, चना की भाजी और टिंडा के भाव आसमान पर हैं।

बाजार में ग्राहक के पसंद की हर साग-सब्जी उपलब्ध है। अधिकतर सब्जियां स्थानीय स्तर पर ही पैदा की जाती हैं, इसलिए उनके दाम भी आम आदमी की पहुंच में हैं। बाहर से आने वाली सब्जियों में मुनगा-मुरार और टिंडा हैं। ये चीजें दक्षिण भारत के राज्यों से मंगवाई जा रही हैं, इसलिए इनके दाम बहुत तेज हैं। मुनगा 160, मुरार 120 तो टिंडा 80 रुपये किलो है। आलू और प्याज के दाम भी थोड़ा ज्यादा हैं। ये दोनों ही चीजें 30-30 रुपये किलो हैं। मटर के दाम भी तेजी से नीचे आए हैं। दीपावली से एकादशी के बीच 160 रुपये किलो बिकने वाली मटर 40-45 रुपये पर उतर आई है। जैसे-जैसे पाटन-शहपुरा से मटर की आवक बढ़ेगी इसके दाम और भी नीचे आ जाएंगे। गोभी-फूल भी 25 रुपये में बड़े आकार के उपलब्ध हैं।

नए आलू-प्याज का इंतजार

आलू-प्याज को प्रमुख सब्जियों में गिना जाता है। लेकिन इनके दाम मध्यम और निम्न आर्थिक वर्ग के नजरिए से थोड़ा ज्यादा हैं। थोक-सब्जी का कारोबार करने वाले राज पाल ने बताया कि अभी बाजार में लोकल आलू और प्याज नहीं आया है, इसलिए दाम अपेक्षाकृत ज्यादा हैं। दिसंबर महीने के मध्य तक लोकल आलू-प्याज की आवक शुरू हो सकती है। इसके साथ ही आलू-प्याज के दाम भी नीचे आ जाएंगे।

बाजार में सब्जियों के दाम

मुनगा - 160

मुरार - 120

टिंडा - 80

हरा लहसुन - 80

भिंडी - 60

बरबटी - 40

हरा-मटर - 40

सेम - 60

वीन्स - 60

परवल - 40

लौकी - 30

बैगन - 40

करेला - 40

टमाटर - 20

चना भाजी - 100

पालक - 40

मैथी भाजी - 25

हरी-मिर्च - 50

धनिया - 40

अदरक - 50

लहसुन - 40

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close