जबलपुर, नईदुनिया रिपोर्टर। अगले साल होने वाले आस्कर अवार्ड के लिए फिल्म शेरनी और सरदार उधम को चुना गया है। इन दोनों फिल्मों को बेस्ट इंटरनेशनल फीचर फिल्म कैटेगरी के लिए चुना गया है। इनका चयन फिल्म फेडरेशन आफ इंडिया की 15 सदस्यीय टीम ने किया है। खुशी की बात ये है कि फिल्म शेरनी में जबलपुर के कई युवा कलाकारों ने अभिनय कर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया है। फिल्म के आस्कर के लिए शार्ट लिस्ट होने से एक ओर जहां शहर के इन युवा कलकारों के बीच हर्ष का माहौल है तो वहीं दूसरी ओर शहर के लिए गर्व का अवसर भी।

कलाजगत से जुड़े शहर के सभी कलाकारों ने इस उपलब्धि पर प्रसन्नता व्यक्त की है और कहा कि बीते कई वर्षों से युवा मुंबई में जाकर अपनी मेहनत से एक अलग पहचान बना रहे हैं। यह खबर सभी की मेहनत का परिणाम है। गौरतलब है कि कोरोना के कारण विद्या बालन अभिनीत फिल्म शेरनी 18 जून को रिलीज की गई थी। जिसमें शहर के करीब छह युवा कलाकारों ने अभिनय किया है। विशेष बात यह है कि फिल्म में इन कलाकारों ने प्रमुख पात्रों को अपने अभिनय से जीवंत किया है। फिल्म के बैनर में ये कलाकार नजर आए हैं।

शेरनी फिल्म में विद्या बालन डीएफओ की भूमिका में हैं। यह फिल्म एक सत्य घटना पर आधारित है। फिल्म में विधायक जीके सिंह की भूमिका में शहर के रंगकर्मी अमर सिंह परिहार बखूबी अपने किरदान को निभाते हुए नजर आएं हैं। इसके साथ ही डीएफओ के असिस्टेंट बब्बर के पात्र में प्रतीक पचौरी हैं। प्रतीक और अमर दोनों ही कई सालों से मुंबई में हैं और कई फिल्मों में काम कर चुके हैं। इनके साथ ही शहर के ही शिवांशु मेहता फिल्म में मुख्य शिकारी शरद सक्सेना के साथ ही एक शिकारी प्रेम की भूमिका में हैं।

शिवांशु एक प्रोफेशनल करियर काउंसलर हैं और अभिनय में रुचि रखते हैं। शहर के एक और प्रतिभाशाली युवा शाकुल चौहान भी शेरनी फिल्म में विधायक जीके सिंह के दामाद मनीष की भूमिका में हैं। इससे पहले शाकुल चौहान तारक मेहता का उल्टा चश्मा में भी काम कर चुके हैं। इनके साथ ही शहर के वरिष्ठ रंगकर्मी मनीष तिवारी ने भी फिल्म के पहले चरण की भोपाल में हुई शूटिंग में अभिनय किया। जिसमें वे विधायक के विशेष सहयोगी की भूमिका में हैं। फिल्म में विवेचना रंगमंडल की एक युवा रंगकर्मी आराधना परस्ते भी डीएफओ विद्या बालन की गार्ड अरुणा के किरदार में नजर आई हैं।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local